महिला ने मांगी मदद तो CRPF जवानों ने किया रेप, वीडियो बनाने का भी आरोप

0

जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में 24 वर्षीय एक महिला द्वारा सीआरपीएफ के जवानों पर गलत तरीके से कैद करने और एक जवान पर बलात्कार का आरोप लगाने के बाद सीआरपीएफ के तीन जवानों को निलंबित कर दिया गया है और उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। पुलिस के अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी। अधिकारी ने बताया कि महिला ने आरोप लगाया है कि आरोपियों ने इस घटना का वीडियो बना लिया और उसे धमकी दी कि अगर उसने किसी को यह बात बताई तो वह वीडियो को सोशल मीडिया पर जारी कर देंगे।

उन्होंने बताया कि पुंछ जिले के मंडी इलाके की रहने वाली महिला ने डोमाना पुलिस थाने में शनिवार को एक लिखित शिकायत दर्ज कराई थी जिसमें उसने आरोप लगाया कि 10 मार्च को सीआरपीएफ के तीन जवान उसे अपने शिविर में ले गए और उनमें से एक ने उससे बलात्कार किया।

उन्होंने बताया कि महिला के मुताबिक वह शाम सात बजकर 30 मिनट पर एक बस से उतरी और अपने रिश्तेदार के घर जा रही थी लेकिन रास्ता भटक गई। आधे घंटे बाद वर्दी में मौजूद तीन लोगों ने शिविर के बाहर उसे रोका। वह मदद करने के बहाने उसे शिविर में ले गए और उनमें से एक ने उससे बलात्कार किया।
अधिकारी ने बताया कि बलात्कार और गलत तरीके से बंद करने समेत रणबीर दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत एक मामला दर्ज कर लिया गया है और इस मामले की जांच की जा रही है।

शिविर में दो जवानों को महिला के साथ देखा गया

सीआरपीएफ के प्रवक्ता आशीष कुमार झा ने बताया कि तीनों आरोपी सीआरपीएफ के जवानों को निलंबित कर दिया गया है और बल पुलिस जांच में पूरा सहयोग कर रहा है। उन्होंने कहा, 10 मार्च को रात 11 बजे के आसपास सीआरपीएफ के दो जवानों के साथ एक महिला को सीआरपीएफ के ग्रुप सेंटर में देखा गया था जो प्रथम दृष्टया सुरक्षा के उल्लंघन का मामला प्रतीत हो रहा है।

इसी के साथ स्थानीय पुलिस को इसकी जानकारी दी गई है और उन्होंने महिला तथा जवानों से पूछताछ की है। प्रवक्ता ने कहा कि चुंकि यह सुरक्षा में चूक का मामला दिखाई दे रहा है इसलिए दो जवानों को निलंबित कर दिया गया है। मामले का वीडियो सोशल मीडिया में आ गया था जिसके बाद महिला ने शिकायत दर्ज कराई है। वीडियो जारी करने वाले जवान को भी निलंबित कर दिया गया है।

Loading...