विश्व बैंक की मदद से पहाड़ में पूरी होगी पानी की जरुरत, सीएम ने दिखाई हरी झंडी

0

बुधवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने तीन योजनाओं का शुभारंभ किया। इसमे विश्व बैंक पोषित उत्तराखंड के अर्द्धनगरीय क्षेत्रों के लिए पेयजल कार्यक्रम के तहत 975 करोड़ की योजना भी शामिल है। 
देहरादून के सर्वे चौक स्थित आईआरडीटी प्रेक्षागृह में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। मुख्यमंत्री ने विश्व बैंक को धन्यवाद देते हुए बताया कि सरकार ने 35 पैरा-अर्बन क्षेत्रों का चयन किया है। जिसमें पानी की जरूरतों को पूरा किया जाएगा।
इस योजना को लेकर एक जन चेतना रथ भी रवाना किया गया। जिसे मुख्यमंत्री और पेयजल मंत्री ने हरी झंडी दिखाई। इस मौके पर पेयजल मंत्री प्रकाश पंत का कहना है कि उत्तराखंड में जल संचय, संरक्षण, संवर्धन को लेकर अभियान चलाया गया है। इस योजना के जरिए 35 कस्बों में 16 घंटे जलापूर्ति का लक्ष्य रखा गया है। ये अभियान 30 जून तक चलेगा।
उत्तराखंड अर्धनागरिक क्षेत्रों के लिए पेयजल कार्यक्रम, पेयजल स्रोतों का संरक्षण एवं संवर्द्धन कार्यक्रम, वर्षा जल संग्रहण कार्यक्रम, नमामि गंगे वेबसाईट, स्वच्छता पठन सामग्री का मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शुभारंभ किया। कार्यक्रम में पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री प्रकाश पंत, विश्व बैंक के अधिकारी समेत विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।
Loading...