मां मैं फिर जन्म लूंगा, यह लिख फांसी पर झूल गया युवक

0

देहरादून: नेहरू कॉलोनी के हरिपुर नवादा में एलआइसी कर्मी ने बाथरूम की ग्रिल से फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। मौके से मिले सुसाइड नोट में उसने खुदकुशी का कोई कारण नहीं बताया, अलबत्ता अपनी संपत्ति को परिवार में बांट देने की बात लिखी है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए भेज दिया है।

जानकारी के अनुसार सचिन क्षेत्री (32 वर्ष) पुत्र स्व. डोर बहादुर क्षेत्री निवासी हरिपुर नवादा रांची (झारखंड) में भारतीय जीवन बीमा निगम में कार्यरत था। सचिन 12 मार्च को होली की छुट्टी लेकर घर आया था। सुबह पांच बजे के करीब सचिन की पत्नी की नींद खुली तो सचिन कमरे में नहीं था। [ads1][ads1]

इधर-उधर तलाश किया तो सचिन घर के बाथरूम के ग्रिल से बंधी चुन्नी से लटकता पाया गया। घर में मौजूद सचिन की मां ने पड़ोसियों को इसकी जानकारी दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने सचिन के शव की तलाशी ली तो उसकी जेब से सुसाइड नोट मिला, जिसमें सचिन ने सभी से माफी मांगते हुए लिखा है कि वह अपनी इच्छा से मौत को गले लगा रहा है। इसके लिए कोई दोषी नहीं है। एसओ विनोद गुसाईं ने बताया कि सचिन की छह महीने पहले ही शादी हुई थी।

मां मैं फिर जन्म लूंगा…

सुसाइड नोट में सचिन ने लिखा है कि मां तुम दुखी मत होना, मैं फिर से जन्म लंूगा तुम्हारे लिए। यही नहीं सचिन ने सुसाइड नोट में अपने बैंक अकाउंट के एटीएम का पिन लिखते हुए कहा है कि उसके अंतिम संस्कार में जो भी खर्च आएगा, उसके खाते से किया जाए। इसके साथ ही मकान बेच कर जो भी पैसा आए, उससे भांजी की शादी में लगा दिया जाए।

 

Loading...