मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने ये क्या बोल दिया

0

देहरादून- उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत 20 दिन बाद भूल गए कि वे ही उत्तराखंड के मुखिया हैं और भूले भी उस घड़ी में जब सभा में सैकड़ो कार्यकर्ता मौजूद थे। जी हां आप ठीक पड़ रहे हैं। दरअसल भारतीय जनता पार्टी के 37वें स्थापना दिवस के मौके पर जब तकरीबन  सभी नेताओं का भाषण खत्म हो गया था और सीएम का उद्धबोधन शुरू हुआ उस समय एक किस्सा ऐसा देखने को मिला की पंच और पंड़ाल में बैठ थोड़ी वक्त के लिए सन्न रह गए। लेकिन कुछ देर बाद जब एक दो लोग हंसने लगे तो समारोह में आए सभी लोग खिलखिला कर हंसने लगे।[box type=”shadow” align=”aligncenter” class=”” width=””] [/box]

सीएम सहम से गए और सोचने लगे कि कहीं उन्होंने गलत तो नहीं बोल दिया। सीएम अपने बोले हुए शब्दों पर गौर करने लगे।  मंच पर बैठे नेताओं ने उनको कहा कि आपने अजय भट्ट को अपने संबोधन में सीएम कहा है। कुछ देर के लिए त्रिवेंद्र सिह रावत सोच में पड़ गए कि बरी सभा में उन्होंने ये क्या कह डाला। लेकिन जब आगे मीडिया का जमावड़ा देखा तो वे शब्दों फेर बदल करते नजर आए।

अब सीएम के उस बयान को आपको विस्तार से बताते हैं। मुख्यमंत्री का संबोधन शुरू हुआ।  “भारत माता की जय से शुरू करते हुए कहा कि मंच पर बैठे हमारे प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री जिनके नेतृत्व में…….”यह बात वे भाजपा प्रदेश अध्य अजय भट्ट को बोलने ही वाले थे कि कार्यकर्ता खिलखिला कर हंसने लगे तभी मुख्यमंत्री ने शब्दों में फेर बदल करते हुए कहा कि भाजपा में प्रदेश अध्यक्ष सीएम ही होता है।

Loading...