उत्तराखंड: नगर कीर्तन में 2 लोगों की तलवार से काटकर हत्या, 5 घायल

0

सितारगंज में नगर कीर्तन गुजरने के तुरंत बाद दो लोगों की सरेआम तलवार से काटकर हत्या कर दी गई। तलवारबाजी और फायरिंग में दोनों पक्षों के पांच लोग घायल हो गए। पुलिस ने दो आरोपियों को हिरासत में ले लिया है। तनाव को देखते हुए पूरे इलाके में भारी पुलिस फोर्स की तैनाती कर दी गई है। बताया जा रहा है कि मृतक ढाई साल पुराने जमीन के विवाद में हुई हत्या के मामले में मुख्य गवाह था।

जानकारी के मुताबिक रविवार दोपहर करीब एक बजे गुरुगोबिन्द सिंह प्रकाशोत्सव का नगर कीर्तन किच्छा मार्ग से गुजर रहा था। इसी बीच नगर कीर्तन में शामिल होने आए बिजटी निवासी हरवंश सिंह पुत्र जागीर सिंह की कुछ लोगों ने गला काटकर हत्या कर दी। इसके बाद बचाव करने आए उनके रिश्तेदार दलजीत सिंह पुत्र गुरमुख सिंह निवासी जनता फार्म के पेट में तलवार घोंप दी गई। दलजीत सिंह की मौत भी मौके पर ही हो गई।

इसके बाद दोनों पक्षों में तलवारबाजी और फायरिंग शुरू हो गई। इस खूनी संघर्ष में पांच लोग घायल हो गए। मृतक दलजीत के भाई राजेन्द्र सिंह उर्फ राजू पुत्र गुरुमुख सिंह को गम्भीर अवस्था में हल्द्वानी रेफर कर दिया गया। राजू के चेहरे पर तलवार से वार किया गया है, जबकि एक अंगुली काट दी गई। जबकि दूसरे पक्ष के हरजीत सिंह और बलजीत सिंह पुत्र मनवीर सिंह निवासी दड़हा गोली लगने से घायल हो गए।

तलवारबाजी और फायरिंग के चलते दहशत से आसपास का बाजार बंद हो गया। एसएसपी समेत जिले के सभी अधिकारी भारी पुलिस बल के साथ सितारगंज पहुंच गए। एसएसपी ने बताया कि दो आरोपियों को हिरासत में लिया गया है। तनाव को देखते हुए इलाके में भारी पुलिस फोर्स की तैनाती की गई है। भूमि विवाद में हुआ खूनी संघर्ष सितारगंज में हुए दोहरे हत्याकांड के पीछे भूमि विवाद में 17 जुलाई 2015 को हुई जयमल सिंह की हत्या को मूल वजह माना जा रहा है। जयमल हत्याकांड में दलजीत को 16 जनवरी को खटीमा कोर्ट में गवाही देनी थी। मृतक के परिजनों का कहना था कि इसी मामले में दलजीत की गवाही रोकने के लिए ही उसकी हत्या कर दी गई।

अस्पताल की इमरजेंसी में पथराव 
वारदात के बाद हमलावर पक्ष के दो लोगों को पुलिस हिरासत में लेकर अस्पताल लाने की भनक लगने पर भड़के लोगों ने अस्पताल की इमरजेंसी में पथराव भी कर दिया। इसके बाद लोगों ने आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग पर सितारगंज कोतवाली का घेराव किया।

छह राउंड फायरिंग से अफरातफरी 
पुलिस ने मौके से एक तलवार बरामद और मोहाली नम्बर की एक इनोवा कार (पीबी 65 आर 0102) बरामद की है। पुलिस ने खून के सैंपल और बाल भी बरामद किए हैं। बताया जा रहा है कि फायरिंग के बाद इनोवा चालक चलती गाड़ी से गिर गया, कार खुद बिना चालक के आगे खड़ी बाइक से टकराकर रुक गई। पुलिस ने कार कब्जे में ले ली है। आसपास के लोगों के अनुसार करीब छह राउंड फायरिंग हुई।

वीडियो बना रही पुलिस पर मूकदर्शक बनने का आरोप
हरवंश के परिजनों ने एसएसपी को बताया कि नगर कीर्तन के दौरान पुलिस फोर्स लगाई गई थी। मौके पर कुछ पुलिसकर्मी भी मौके पर मौजूद थे, वे मोबाइल से वीडियो बना रहे थे। परिजनों का आरोप था कि पुलिस बचाने के बजाय मौन साधे खड़े थी। परिजनों ने एसएसपी को बताया कि वीडियो बनाते पुलिसकर्मियों से बचाने की गुहार लगाई। लेकिन पुलिस खुद को बचाने में लग गई।

उधमसिंह नगर के एसएसपी डॉ. सदानन्द दाते ने बताया, ‘घटनाक्रम में पुरानी रंजिश सामने आई है। दो आरोपियों को हिरासत में लिया है। बाकी की तलाश में दबिश दी जा रही है। कानून व्यवस्था के लिए पुलिस पूरी तरह मुस्तैद है।’

Loading...