जब तक सीएम नही आये, तब तक नही होगा शहीद का अंतिम संस्कार

0

शहीद प्रेमसागर के परिजनों ने शव का अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया है। वे लोग मुख्यमंत्री को बुलाने की मांग कर रहे हैं। कैबिनेट मंत्री सूर्यप्रताप शाही समेत पूरा प्रशासनिक अमला शहीद के परिजनों को समझाने में जुटा है।

जम्मू कश्मीर  के पूंछ में सोमवार को पाकिस्तानी सेना के हमले में शहीद हुए प्रेमसागर का पार्थिव शरीर मंगलवार की रात करीब आठ बजे उनके पैतृक गांव टिकमपार पहुंचा। यहां पर शव के पहुंचते ही मौजूद हजारों की भीड़ का आक्रोश बढ़ गया।

लोग पाकिस्तान मुर्दाबाद का नारे लगाने लगे। शहीद का पार्थिव शरीर लेकर पहुंचे कैबिनेट मंत्री सूर्यप्रताप शाही ने शहीद को श्रद्धांजलि देने के बाद उनकी पत्नी ज्ञानती को प्रदेश सरकार की तरफ से 20 लाख रुपए का चेक प्रदान किया। इसके बाद जैसे ही अंतिम संस्कार की प्रक्रिया शुरू हुई ग्रामीणों और परिजनों ने विरोध शुरू कर दिया। शव से लिपटी शहीद की पत्नी ज्ञानती, बेटी सरोजा, मोनिका और बेटे ईश्वर और रणविजय मुख्यमंत्री को बुलाने की मांग कर रहे हैं।

Loading...