छात्राओं को सीएम रावत का सम्मान, दिया ऐसा मंत्र जो सच में बदल सकता है नयी पीढ़ी की सोच

    0

    देहरादून: वक्त बदल गया है जिस दौर में सदी में कप्यूटर को महान दर्जा दिया गया था उसकी जगह अब स्मार्टफोन ने ले ली है। स्मार्टफोन की मदद से हम कम समय में ज्यादा चीजें कर सकते हैं। अपने वक्त को भी बचा सकते है लेकिन उसके लिए हमें भी स्मार्ट बनना पड़ेगा। ये  बात हम नहीं उत्तराखण्ड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत बोल रहे है। उन्होंने बुधवार को अपने आवास में उत्तराखण्ड बोर्ड की हाईस्कूल-इण्टर परीक्षाओं की टॉपर छात्राओं को ‘कम्प्यूटर टैबलेट’ वितरण किए।

    महिला कल्याण एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम में सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सभी ब्लॉकों और जनपद स्तर पर उत्तराखण्ड बोर्ड परीक्षा में हाईस्कूल-इण्टरमीडिएट की टॉपर छात्राओं को टैबलेट वितरित किये गये। कार्यक्रम में कुल 307 टैबलेट वितरित किये गये। उन्होंने सभी छात्राओं को बधाई दी। उन्होंने कहा कि आपने अपने परिवार के अलावा राज्य का भी नाम रोशन किया है। आप लोग सच में स्मार्ट गिफ्ट के हकदार हों।

    टैबलेट दुनिया भर की जानकारी का स्रोत बनकर सामने आया है। भविष्य को ध्यान में रखते हुए इसके इस्तेमाल करना चाहिए। बुरा इस्तेमाल बुरे नतीजे ही देगा। सीएम ने कार्यक्रम में कहा कि स्मार्ट दौर में स्मार्ट कार्यशैली पर ध्यान दें। उन्होंने कहा कि आप जॉब पाने के लिए नहीं जॉब देने के लिए कोशिश करें। इससे आपकी पढ़ाई काम आएगी। केवल नौकरी पाने के लिए अगर पढ़ाई की जाएगी तो वो रिजल्ट तक ही सीमित रह जाएगी। आपने जो सीखा है वो दूसरों को भी तो सिखाना है इस प्रकार की सोच से युवाओं में बदलाव जरूर आएगा। उन्होंंने अभिभावकों के लिए कहा कि आप भी अपने बच्चे के साथ उसके सपनों को जीने की कोशिश करें। बच्चों पर अपनी महत्वकांक्षा डालना ठीक नहीं है। ये उनका मनोबल नहीं बल्कि उनपर दवाब बनाएगा जो बाद में परेशानी का सबक बन सकता है।

    Loading...