नमामि गंगे योजना के कार्यों पर bjp नेताओं ने उठाये सवाल, घाट निर्माण में गुणवत्ता का नहीं दिया जा रहा ध्यान

0

नमामि गंगे योजना के कार्यों पर भाजपा नेताओं ने उठाये सवाल घाट निर्माण में गुणवत्ता का नहीं दिया जा रहा ध्यान एक ही बरसात में तबाह हो जायेंगे घाट विपक्ष को भी बैठे बिठाये मिल गया मुद्दा जिलाधिकारी ने दिलाया जांच का भरोसा स्लग – नमामि गंगे के कार्यों पर आरोप एंकर – केन्द्र सरकार की महत्वकांक्षी नमामि गंगे योजना परभाजपा कार्यकर्ता और स्थानीय जनता ने सवाल खड़े कर दियेहैं। योजना के शुरूआती दौर में ही योजना पर ऊंगलियां उठनीशुरू हो गई है। जहां भी नमामि गंगे के कार्य चल रहे हैं, सभी में भारी अनियमितताएं पाई जा रही है। ऐसे में लगता नहीं कि यहयोजना सफल हो पायेगी। रुद्रप्रयाग जनपद के नगर पालिका रुद्रप्रयाग और नगरपंचायत अगस्त्यमुनि में नमागि गंगे योजना के तहत घाटों कानिर्माण किया जा रहा है, जहां अगस्त्यमुनि में घाट का निर्माणकार्य पूरा हो गया है, वहीं रुद्रप्रयाग मुख्यालय में पांच घाटों में सेएक भी घाट का निर्माण कार्य पूरा नहीं हो पाया है। ऐसे मेंभाजपा कार्यकर्ताओं ने ही अपनी ही सरकार और योजना कोकटघरे में खड़ा करना शुरू कर दिया है। भाजपा नेताओं ने केन्द्रकी महत्वकांक्षी योजना पर ऊंगलियां उठाई हैं। उनकी माने तोयोजना के शुरूआती दौर से लापरवाही बरती जा रही है। घाटनिर्माण में गुणवत्ता को कोई भी ध्यान नहीं दिया जा रहा है।कंकरीट, बजरी, पत्थर व सीमेंट का सही से उपयोग नहीं कियाजा रहा है और जहां पर घाटों का निर्माण किया जा रहा है, वहएक ही बरसाती सीजन में तबाह हो जायेगा। उनका यह भीकहना है कि जहां घाटों की ज्यादा आवश्यकता है, वहां पर कार्यनहीं किया जा रहा है। जिससे जनता भी खासी परेशान है।

केन्द्र सरकार की योजना पर जब भाजपा नेता ही ऊंगलियां उठाने में लगे हैं तो विपक्ष भी पीछे नहीं है। विपक्ष कीओर से भी नमामि गंगे योजना के तहत किये जा रहे कार्यों कोगलत बताया जा रहा है। उनका कहना है कि हरिद्वार व बनारसमें पानी का बहाव नहीं है, जबकि हिमालय से निकलने वालीनदियों का बहाव तेजी से होता है और बरसात में पानी लोगों केघरों तक पहुंच जाता है। ऐसे में घाट नदी में समा जायेंगे औरतीर्थयात्रियों को इसका लाभ नहीं मिलेगा और जो कार्य कियागया है वह भी तबाह हो जायेगा। ऐसे में यह धन का दुरूपयोगहै। सिर्फ धन को ठिकाने लगाने का काम किया जा रहा है।

वहीं जिलाधिकारी का कहना है कि नमामि गंगे योजनाके तहत किये जा रहे कार्यों में शिकायत मिल रही है। उनका हैकि यह योजना केन्द्र सरकार की महत्वकांक्षी योजना है, जिसपर गुणवत्ता पूर्वक कार्य किया जाना है। योजना पर मिल रहीशिकायत के बाद योजना के अधिकारियों को बुलाया गया है औरउनसे योजना की पूरी की जानकारी ली जायेगा। दोषीअधिकारियों और ठेकेदारों के विरूद्ध कार्रवाई भी की जायेगी।

केन्द्र सरकार की महत्वकांक्षी नमामि गंगेयोजना शुरूआती दौर में ही सवालों के घेरे में आ गई है। योजनापर कार्य कर रही संस्थाएं अपनी मनमर्जी से कार्य कर रही है,जिससे जनता भी खासी परेशान है। योजना पर भाजपा केकार्यकर्ताओं ने सवाल खड़े किये हैं तो देखना होगा कि निर्माणकार्यों की जांच कब तक की जाती है या फिर बरसाती सीजन मेंघाटों के तबाह हो जाने के बाद प्रशासन जागेगा।

Loading...