टिहरी: जिला अस्पताल में टपकती छत के नीचे इलाज कराने को बेबस हैं मरीज

0
पिछले महीने डीएम सोनिका ने अस्पताल का औचक निरीक्षण किया था और वहां अव्यवस्थाएं देखी थी। अस्पताल के शौचालय गंदे थे और छत पर लगी टंकियों में ढक्कन नहीं थे। डीएम ने निरीक्षण के दौरान कुछ दिन पहले सीएमएस और अन्य कर्मचारियों को फटकार लगाई थी, लेकिन उसके बाद भी जिला अस्पताल में छत से बारिश का पानी टपक रहा था। रास्ता गीला न हो इसके लिए अस्पताल के कर्मचारियों ने रास्ते में ही बाल्टियां लगा ली। इससे बारिश का पानी बाल्टियों में जमा हो रहा था।

यह भी पढ़ें:-वो जो गरीबी में जीते हैं और गुमनामी में मर जाते हैं

खुली टंकियों का पानी ही मरीजों और तीमारदारों को पीना पड़ रहा था। अस्पताल की बदहाली देख जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधीक्षक और वार्डन को कड़ी फटकार लगाई थी। इसके बाद अस्पताल ने मरम्मत का काम शुरू कराया, लेकिन अभी भी सुस्त गति से काम हो रहा है।

यह भी पढ़ें:-सरकारी स्कूलों की दयनीय स्थिति, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त करना देश के नौनिहालों का हक

टिहरी में तेज  बारिश के दौरान अस्पताल के अंदर भी बरसात जैसा हो गया है। जब इस संबंध में अस्पताल के सीएमएस डॉ सीपी त्रिपाठी से पूछा गया तो उनका रटा-रटाया जबाब दिया की मरम्मत का काम चल रहा है। जल्द ही ठीक कर दिया जाएगा।

Loading...