सरकारी पैसे पर लाखों का चूना लगाती ये कंपनी आज भी असमंजस की स्थिति में

0

चमोली: चमोली जिले में सबसे बड़ी निर्माणाधीन जल विद्युत परियोजना “एनटीपीसी-तपोवन विष्णुगाड जल विद्युत परियोजना” (520 मेघावाट क्षमता) जिसका निर्माण कार्य तमाम तरह से स्थानीय प्रभावित ग्रामीणों के विरोध के बाद वर्ष 2007 से प्रारंभ हुआ. तब इस परियोजना को पूर्ण होने का लक्ष्य वर्ष 2012 यानी 5 साल रखा गया था और इस पर सम्पूर्ण लागत 3 हजार करोड़ के आस-पास था. आज वर्ष 2017 भी समापन होने जा रहा है और इसकी लागत साल-दर साल बढती जा रही है और आज इसकी लागत 6 हजार करोड़ के आस-पास पहुँच गयी है. परियोजना का कार्य लगभग 70 प्रतिशत पूर्ण हो चुका है. इसका पॉवर हाउस लगभग 80 प्रतिशत बन गया है और स्विच यार्ड बनकर तैयार हो गया है परन्तु पेंच मुख्य सुरंग सेलंग से चोरमी (बडागांव) फंसा हुआ है इस सुरंग के बीच में वर्ष 2013 से टीवीएम (टर्नल बोरिंग मशीन) 3.5 किमी पर भूस्खलन होने के कारण फंसी हुयी है.सरकारी पैसे पर लाखों का चूना लगाती ये कंपनी आज भी असमंजस की स्थिति में है कि परियोजना बनेगी या नहीं

Loading...