रुद्रप्रयाग में अलकनंदा में समाई जीप, लापता लोगों की संख्या बढ़कर 6 हुई

0

रुद्रप्रयाग में जवाड़ी बाईपास पर एक जीप अलकनंदा नदी में समा गई। घटना में दो लोगों की मौत हो गई। पहले हादसे में चार लोग लापता बताए जा रहे हैं। शनिवार को लापता की संख्या चार से बढ़कर छह हो गई है। जीप में 10 लोगों के बैठने की बातें भी सामने आ रही है। प्रशासन के पास जो मिसिंग लोगों के नाम आ रहे है, उससे यह अंदाजा लगाया जा रहा है। हालांकि प्रशासन ने कहा कि जब तक लापता लोगों के बारे में सही जानकारी नहीं मिलती कुछ भी नहीं कहा जा सकता है। उधर, दो घायलों में से एक को देहरादून रेफर कर दिया गया है जबकि एक का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है। भारी बारिश के बीच जीप गिरने की घटना की खबर सुनते ही भारी संख्या में लोग घटनास्थल पहुंच गए थे।

शुक्रवार सुबह साढ़ 11 बजे हुआ हादसा 

पुलिस के अनुसार शुक्रवार सुबह 11 बजकर 20 मिनट पर अगस्त्यमुनि से तिलवाड़ा होते हुए रुद्रप्रयाग आ रही एक जीप जवाड़ी बाईपास पर वन विभाग कार्यालय के पास अनियंत्रित होकर अलकनंदा नदी में समा गई। पुलिस के अनुसार वाहन में सवार 8 लोगों में से एक अज्ञात की मौके पर ही मौत हो गई। जखोली ब्लॉक के मेदनपुर निवासी 30 वर्षीय गणेश पुत्र प्रेम सिंह की श्रीनगर बेस अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हुई।

एक गंभीर घायल को देहरादून किया रेफर 

गंभीर घायल कुमड़ी निवासी 23 वर्षीय सुमित रावत पुत्र वीर सिंह रावत को श्रीनगर से देहरादून रेफर कर दिया गया है। कुमड़ी निवासी पंकज रावत पुत्र रणवीर सिंह रावत का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है। कुमड़ी गांव के प्रधान इन्द्र लाल, जीप चालक और एक महिला सहित चार लोग लापता बताए जा रहे हैं। घटना की खबर सुनते ही वाहन में सवार लोगों के परिजन भी रुद्रप्रयाग पहुंचे। सेना, पुलिस, प्रशासन, आपदा प्रबंधन के साथ ही स्थानीय लोग मौके पर पहुंच गए। खाई से चार लोगों को निकाला गया। जो चार लोग लापता है उनकी खोजबीन के लिए हरिद्वार से गोताखोर की टीम बुलाई गई है।

पूरे मार्ग पर सुरक्षा के लिए पैराफीट नहीं 

जवाड़ी बाईपास सड़क की स्थिति कई जगहों पर खराब है। बारिश से कई स्थानों पर पत्थर गिर रहे हैं। जबकि कुछ स्थानों पर सड़क किनारे धंसाव हो रहा है। पूरे मार्ग पर सुरक्षा के लिए पैराफीट और सुरक्षा दीवार नहीं है। जहां दुर्घटना हुई उसके आसपास सड़क की स्थिति ज्यादा अच्छी नहीं है। देर शाम तक पुलिस और आपदा प्रबंधन की टीम खोजबीन में जुटी थी। दुर्घटना की सूचना पर डीएम मंगेश घिल्डियाल, सीओ श्रीधर बडोला, कोतवाल डीएस पंवार, तहसीलदार श्रेष्ठ गुनसोला मौके पर पहुंच गए थे।

Loading...