मिलावटखोरों ने भगवान को भी नहीं बख्शा, उत्तराखंड के पवित्र चारों धामों के तमाम रूटों पर खाने-पीने की चीजों में भारी मिलावट

0

मिलावटखोर अब तक आपके खाने पीने से लेकर आपकी रसोई में रखी हर चीज पर कब्जा किए हुए थे लेकिन अब जो खबर आई है वह खबर सीधे भगवान के दर से जुड़ी हुई है । जिसमें मिलावटखोरों ने भगवान को भी नहीं बख्शा जी हां हम बात कर रहे हैं उत्तराखंड के पवित्र चारों धामों की पिछले लंबे समय से खाद्य पदार्थों की जांच कर रही है एजेंसी स्पेक्स ने इस बार देहरादून से लेकर बद्रीनाथ और केदारनाथ के रूट पर चल रहे होटल ढाबे वर्तमान खाने-पीने के साधनों की गहनता से जांच की इतना ही नहीं स्पेस में चारधाम मार्गो से लगभग 1143 खाने पीने के सैंपल लिए । कपड़ियाला गंगोरी भटवाड़ी गंगनानी जैसे लाखों में हर खाद्य पदार्थ में सौ प्रतिशत मिलावट पाई गई है इसके साथ ही बद्रीनाथ और केदारनाथ के तमाम रूटों पर खाने-पीने की चीजों में भारी मात्रा में मिलावट पाई गई है जांच कर रही एजेंसी ने यह पाया है कि यात्रा मार्गों पर पड़ने वाले छोटे-छोटे बाजारों में भारी मात्रा में होने वाली मिलावट के कारण यात्रियों के स्वस्थ पर प्रभाव पड़ेगा ही रहा है । साथ ही स्थानीय गांव भी इस मिलावट की चपेट में हैं सबसे बड़ी बात यह है कि मिलावटखोरों ने भगवान बद्रीनाथ और केदारनाथ के लिए इस्तेमाल किए जा रहे देसी घी में भी 70% मिलावट की हुई है यानी श्रद्धालु जिस जिसे भगवान का अभिषेक कर रहे हैं वह 70% मिलावटी है । स्पेक्स के अधिकारी बृज मोहन शर्मा का कहना है कि तमाम जगह पर लिए गए सैंपलों के नमूने उन्होंने जांच के लिए भेजे थे जिसके बाद यह परिणाम निकलकर के सामने आए हैं उन्होंने कहा कि खाने पीने की हर वस्तु में चार धाम यात्रा पर भारी मात्रा में मिलावट पाया जाना राज्य के साथ साथ राज्य में आने वाले लोगों के लिए भी सही नहीं है इसलिए राज्य सरकार को चाहिए कि इस मामले पर तुरंत कार्यवाही करें

Loading...