उत्तराखंड की तान्या पुरोहित IPL-20 में एंकरिंग से लगाएंगी तड़का

0
तान्या पुरोहित

आईपीएल 2020 के धूमधड़ाके में एंकरिंग का तड़का लगाने के लिए उत्तराखंड की बेटी तान्या पुरोहित भी इस आयोजन से जुड़ गई हैं। वह आईपीएल 20 में स्टार स्पोटर्स की टॉप एंकर के रूप में मुकाबलों के दौरान खिलाड़ी, कोच, दर्शकों आदि के इंटरव्यू लेती दिखाई देंगी। रुद्रप्रयाग जिले के अगस्त्यमुनि ब्लॉक की क्वीली गांव की मूल निवासी तान्या के पिता डा.डीआर पुरोहित गढ़वाल विवि के रिटायर्ड अंग्रेजी प्रोफेसर हैं और संस्कृति विशेषज्ञ भी हैं। तान्या के पति दीपक डोभाल जी बिजनेस में एंकर हैं, वह राज्य सभा टीवी में एंकरिंग कर चुके हैं। तान्या ने गढ़वाल विवि से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है, साथ ही वह 04 वर्ष की बालावस्था से श्रीनगर में थियेटर से जुड़ी रही हैं। तान्या के चयन से पूरे उत्तराखंड में खुशी की लहर दौड़ गई है। उनके परिजनों को बधाईयों का सिलसिला सोशल मीडिया पर चल निकला है। तान्या ने कई फिल्मों और धारावाहिक में काम किया है और आईपीएल से पहले वह सीपीएल (कैरेबियन प्रीमियर लीग) की भी एंकर रह चुकी हैं।

देवभूमि की बेटी ने बढ़ाया मान, एंकरिंग करती हुई आएंगी नजर आईपीएल में | अपना  राज्य

मुबंई से होगी एंकरिंग

कोविड कारणों से टीवी प्रोस्तोता कंपनी स्टार स्पोर्ट्स का क्रू का बड़ा हिस्सा मुबंई से ही आईपीएल की कवरेज करेगा। इसके लिए एक होटल में ही सारा सेटअप लगाया गया है। तान्या भी मुबंई से ही एंकरिंग का जिम्मा संभालेंगी। तान्या इससे पहले अनुष्का शर्मा की एनएच 10, टेररिस्ट अटैक-ब्योंड बाउंड्री व कमांडो जैसी फिल्में कर चुकी हैं। दिल्ली में डैडी फिल्म का ड्रामेटिक वर्जन समेत श्रीनगर में शैलनट नाट्य संस्था के लिए अनेक नाटक कर चुकी हैं।

हमारा हुआ आईपीएल
लॉकडाउन में बोर हो रहे क्रिकेट प्रेमियों को बेसर्बी से आईपीएल 20 के शुरू होने का इंतजार था। लेकिन तान्या के एंकरिंग से चुने जाने पर सोशल मीडिया में इस प्रतिक्रिया को सबसे ज्यादा पसंद किया गया कि, आईपीएल तो हमने पहले ही जीत लिया है, आईपीएल हमारा हुआ। ऐसा मानें भी क्यों नहीं। आखिर उसकी एक बेटी को प्रमुख उद्घोषक जो चुना गया है।

पिता से विरासत में मिली प्रतिभा
तान्या के पिता प्रोफेसर डा.डीआर पुरोहित एचएनबी गढ़वाल विश्वविद्यालय श्रीनगर में अंग्रेजी साहित्य के प्रोफेसर रहे हैं। सेवानिवृत्ति के बाद वह शिमला उच्च अध्ययन संस्थान में फेलोशिप में संलग्न हैं। जोशीमठ के उर्गम घाटी के मुखौटा नृत्य रम्माण को यूनेस्को की नजर में लाने का श्रेय भी उन्हें हासिल है। तान्या को रंगमंच के जरिए इस मुकाम तक पहुंचाने के पीछे उनके पिता व मां बीना पुरोहित व पति दीपक की मेहनत है।

Loading...