सुकमा अटैक: जवानों के प्राइवेट पार्ट्स काट ले लए नक्सली

0

रायपुर
छत्तीसगढ़ के सुकमा में सीआरपीएफ जवानों पर नक्सलियों के हमले के मामले में हर रोज नए खुलासे हो रहे हैं। अब पता चला है कि जवानों की हत्या करने के बाद नक्सलियों ने उनमें से कई के प्राइवेट पार्ट्स काट लिए। इस भीषण हमले में 25 जवान शहीद हो गए थे। बाद में जब इनके शव लेने के लिए रेस्क्यू पार्टी मौके पर पहुंची तो पता चला कि कई जवानों के प्राइवेट पार्ट्स काट लिए गए थे। कुछ जवानों का गला रेता गया था, जबकि कुछ के चेहरे और सिर कुचल दिए गए थे। एक सीनियर पुलिस अफसर ने बताया, ‘हम सिर्फ यही कह सकते हैं कि हमले में शहीद हुए बहुत सारे जवानों के अंग काटे गए।’ माना जा रहा है कि नक्सलियों की इस हैवानियत का मकसद सुरक्षाबलों के साथ-साथ स्थानीय आदिवासियों को संदेश देना था। [ads1][ads1]
पुलिस के सूत्रों का कहना है कि माओवादी मारे गए जवानों के शरीर के साथ अमूमन ऐसी हरकत नहीं करते। इस तरह की हरकत से शायद वे स्थानीय आदिवासियों को यह संदेश देना चाहते हैं कि उन्होंने सुरक्षाबलों द्वारा सिक्यॉरिटी ऑपरेशंस के दौरान कथित तौर पर रेप और छेड़छाड़ के मामलों का बदला ले लिया है। एक अफसर का कहना है कि इस तरह की हरकत के जरिए माओवादी सुरक्षाबलों में डर फैलाना चाहते हैं। इससे वे गांववालों को ये भी मेसेज देना चाहते हैं कि वे सुरक्षाबलों की मदद करने से बाज आएं।[ads1][ads1]

एक सीनियर पुलिस अफसर ने बातचीत में कहा कि माओवादियों ने इससे पहले भी एक बार ऐसी हरकत की थी। 2007 में छत्तीसगढ़ के बीजापुर में सैन्य कैंप पर हुए हमले के बाद उन्होंने मारे गए जवानों के शव क्षत-विक्षत कर दिए थे। उस हमले में 55 जवान शहीद हुए थे और उनमें से कई के शरीर से सिर, हाथ और पैर काट लिए गए थे। और तो और, शरीर को उठाने आने वाली जवानों की टीम को निशाना बनाने के लिए शव के साथ बम भी लगा दिए थे।

Loading...