देवभूमि पर कलंक, 17 साल की लड़की की मौत से मचा हड़कंप

0

देहरादून: उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले के चौखुटिया क्षेत्र के खजुरानी गांव में 17 साल की एक किशोरी की कथित रूप से भुखमरी के चलते मौत हो जाने की खबर से पूरे उत्तराखंड में हड़कंप मचा हुआ है. मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने राज्य सरकार पर संवेदनहीनता का आरोप लगाते हुए इस घटना को ‘देवभूमि पर कलंक’ करार दिया है. अल्मोड़ा के जिलाधिकारी सविन बंसल ने बताया कि मामले का संज्ञान लेते हुए चौखुटिया के उपजिलाधिकारी को मौके पर भेजकर उसकी पड़ताल कराई जा रही है.[ads1]

उन्होंने बताया कि घटनास्थल सड़क मार्ग से 7 किलोमीटर की दूरी पर स्थित दूरस्थ गांव है. बंसल ने बताया कि दो सप्ताह पहले उन्होंने इस क्षेत्र में कैंप लगाया था और तब इस परिवार के चार सदस्यों के मानसिक रोग से ग्रस्त पाए जाने पर उन्होंने उनके लिए मौके पर ही पेंशन स्वीकृत करवाई थी. उन्होंने कहा कि प्रक्रिया आरंभ हो चुकी है और जल्द ही उन्हें पेंशन मिलने लगेगी.
[ads2]15 अप्रैल को हुई इस घटना पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने राज्य सरकार पर संवेदनहीन होने का आरोप लगाते हुए इसे ‘देवभूमि पर कलंक’ बताया है. उपाध्याय ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत को पत्र लिखकर राज्य में इस तरह की संवेदनशील घटनाओं का संज्ञान लेते हुए पीड़ित परिवार को शीघ्र राहत पहुंचाने की मांग की है. साथ ही उन्होंने कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल को खजुरानी गांव भेजकर पीड़ित परिवार को 21 हजार रुपये की सहायता राशि भी पहुंचाई है.

Loading...