उत्तराखण्ड रोडवेज़ से सम्बद्ध “शेर-ए-पंजाब” ढाबा खतौली में हो रही खुल्लम-खुल्ला लूट

दे रहे रु 190 के 2 आलू परांठा, ढाबे के बिल में टेक्स चोरी, GST का नहीं बिल में उल्लेख

0

दिल्ली से देहरादून आते समय उत्तराखण्ड रोडवेज़ की बस में सफ़र करने पर रात को खतौली में बस रोकी जाती है और सरकारी बस का कंडेक्टर बोलता है बस आधा घंटे रुकेगी जिसको जो खाना हो खा ले, इसके बाद बस कही नहीं रुकेगी। इसी तर्ज़ पर 17/09/2017 की रात दिल्ली से देहरादून आते हुवे उत्तराखण्ड रोडवेज़ की बस नंबर 3245 UK07PA कंडक्टर राम बाबू (जैसा की टिकट पर दर्ज है), ड्राइवर अजय (सम्भावित) बस लगभग रात 10:30 बजे खतौली के “शेर-ए-पंजाब” ढाबा पर रोकी गयी। उक्त ढाबे पर 2 आलू परांठा खाने के बाद, 2 आलू के परांठा का बिल रु0 190 दिया गया। जबकि आलू परांठा का बाजार मूल्य रु0 30/-प्रति है। यही नहीं बिल पर 1 थाली रु 190 लिखा था, जबकि बिल पर GST का भी कोई जिक्र नहीं था। जब कंडेक्टर व ढाबा संचालक से शिकायत की गयी कि हमने थाली नहीं परांठा खाया है तो वो लोग बतमीजी करने लगे और उत्तराखण्ड रोडवेज़ का उक्त बस कंडक्टर भी ढाबा संचालक की भाषा बोलने लगा और उल्टा हमे ही समझने लगा। बमुश्किल झक मार कर दूसरा बिल दिया गया जिस पर थाली की जगह 2 आलू परांठा 190 रु लिखा गया। इस बिल पर भी GST का कहीं भी जिक्र नहीं था। स्पष्ट है की उक्त ढाबा संचालक उत्तराखण्ड रोडवेज़ के यात्री और सरकार दोनों को ही लूट कर ग्राहक की जेब तथा सरकार को GST टेक्स का चुना लगा रहा हैं।

कंडेक्टर रामबाबू से बहुत देर झक मारने के बाद कंडक्टर ने शिकायत पुस्तिका दी जिसपर रात को ही चलती बस में शिकायत दर्ज कर दी गयी।

शिकायत में ढाबा संचालक एवं कंडक्टर रामबाबू/ड्राइवर के खिलाफ उचित वैधानिक कार्यवाही तथा शेर ए पंजाब ढाबे से उत्तराखण्ड रोडवेज़ का सम्बन्ध विच्छेद करने की मांग की गयी।

देखते हैं क्या करते हैं – उत्तराखण्ड रोडवेज़ के महाप्रबंधक, परिवहन मंत्री, उत्तराखण्ड के  मुख्यमंत्री……..

शिकायतकर्ता
उत्तराखण्ड रोडवेज़ यात्री
– संजय भट्ट

Loading...