प्रदेश में 2 नवंबर से खुलेंगे स्कूल बरतनी होगी सावधानी

0

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत की अध्यक्षता में कैबिनेट बैठक बुधवार को आयोजित की गई। बैठक में कई अहम फैसले लिए गए। उत्तराखंड कैबिनेट ने प्रदेश में स्कूल खोले जाने को लेकर फैसला ले लिया है। बैठक में निर्णय लिया गया है कि पहले चरण में एक नवम्बर से 10 वीं और 12 वीं के सरकारी व प्राइवेट स्कूल खोले जाएंगे। हालांकि, 01 नवंबर को रविवार होने की वजह से स्कूल 02 नवबंर से खुलेंगे।

इस दौरान सभी सरकारी, प्राइवेट स्कूलों में परम्परागत तरीके से पढ़ाई होगी। डिग्री कॉलेज सहित अन्य कक्षाओं पर फैसला बाद में हालात देखकर किया जाएगा। बुधवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में यह निर्णय लिया गया। बैठक में 18 प्रस्तावों पर चर्चा हुई, जिनमें से एक प्रस्ताव पर कमेटी बनाई गई, जबकि अन्य सभी को हरी झंडी दे दी गई।

शासकीय प्रवक्ता मदन कौशिक ने बताया कि प्रथम चरण में दो नवंबर से सिर्फ दसवीं और बाहरवीं के छात्रों के लिए स्कूल में पढ़ाई परम्परागत माध्यम से होगी। केंद्र सरकार स्कूल खोलने के लिए पहले ही राज्य सरकार को अधिकृत कर चुकी थी, इसी क्रम में एसओपी भी जारी हो चुकी है। कक्षा संचालन के समय एसओपी का पालन किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि डिग्री कॉलेज, इंजीनियरिंग कॉलेज, मेडिकल कॉलेज सहित स्कूल स्तर की अन्य कक्षाओं के संचालन पर निर्णय इसके बाद लिया जाएगा। कौशिक ने स्पष्ट किया सामान्य तौर पर स्कूल खोलने के दौरान संक्रमण के मामले आने पर स्कूल संचालकों को जिम्मेदार नहीं माना जा सकता, अलबत्ता यदि स्कूल तय एसओपी का पालन नहीं करते हैं तो ऐसी स्थिति में जरूरी कार्रवाई की जाएगी।

नपा तुला फैसला
सरकार स्कूल खोलने को लेकर दोहरी मुश्किल में फंस गई थी। जिला स्तर से प्राप्त फीडबैक के आधार पर पहले नौंवी से 12वीं के छात्रों के लिए स्कूल खोलने का प्रस्ताव था। लेकिन कैबिनेट ने यूरोप सहित देश में ही कुछ राज्यों में स्कूल खोलने के बाद कोविड मामले बढ़ने की रिपोर्ट को देखते हुए, फिलहाल सिर्फ बोर्ड कक्षाओं के छात्रों के लिए ही स्कूल खोलने की इजाजत दी है। इधर, कौशिक ने बताया कि कोचिंग संस्थान खोलने के लिए भी जिलाधिकारियों को अधिकृत किया गया है। जिलाधिकारी स्थानीय परिस्थितियों के मुताबिक एसओपी के तहत कोचिंग संस्थान खोलने की इजाजत दे सकते हैं।

Loading...