स्कूल का प्रधानाचार्य 1 माह से नदारद, प्रवक्ता 3 माह से लापता

ऐसे स्कूल टीचरों के खिलाफ सरकार की छूट के कारण ही ऐ लापरवाही करते हैं सरकार कोई भी सक्त एक्शन नहीं लेती और ऐ लापरवाह टीचर आम जनता के टैक्स के पैसों पर ऐस करते रहते हैं जिसके मामले दिंनों दिन देखने को मिलते है .

0
टिहरी: शिक्षा विभाग और सरकार का मॉडल स्कूल का सपना इंटर कालेज अखोड़ी में अधूरा रह गया है। विद्यालय का प्रधानाचार्य एक माह से और जीव विज्ञान का प्रवक्ता तीन माह से नदारद चल रहे हैं. 10 शिक्षकों के पद रिक्त चल रहे हैं, जिससे विद्यालय की शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह से ठप हो रखी है।
अभिभावकों ने नदारद चल रहे शिक्षकों के निलंबन और रिक्त पदों पर नियुक्ति की मांग की है. साथ ही ऐसा नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है. विद्यालय में वर्षों से हिंदी, भौतिक विज्ञान, गणित, राजनीतिक विज्ञान, भूगोल, संस्कृत प्रवक्ता और एलटी में हिंदी, विज्ञान, संस्कृत, कला के शिक्षकों के पद रिक्त हैं।

विद्यालय में तालाबंदी की चेतावनी

एक कनिष्ठ सहायक का पद भी रिक्त है। तीन मई 2016 से प्रधानाचार्य और इस वर्ष मई से जीव विज्ञान प्रवक्ता नदारद चल रहे हैं. मंगलवार को गोदाधार अखोड़ी में अभिभावक शिक्षक संघ की बैठक में अभिभावकों ने नदारद चल रहे प्रधानाचार्य और जीव विज्ञान प्रवक्ता को निलंबित करने का प्रस्ताव पारित किया।

अभिभावक शिक्षक संघ के अध्यक्ष सरोप सिंह महरा का कहना है कि जल्द ही मांगों पर कार्रवाई नहीं की गई, तो अगस्त प्रथम सप्ताह में विद्यालय में तालाबंदी की जाएगी।

मुख्य शिक्षा अधिकारी टिहरी दिनेश चंद्र गौउ़ ने बताया कि नदारद चल रहे प्रधानाचार्य के खिलाफ विभागीय कार्रवाई गतिमान है। प्रवक्ता के अनुपस्थित होने की सूचना नहीं मिली है। अगर ऐसा है तो कार्रवाई की जाएगी। रिक्त चल रहे अध्यापकों के पदों पर काउंसिलिंग चल रही है। एक सप्ताह में दो-तीन शिक्षकों की तैनाती विद्यालय में होनी है।

Loading...