किशोरी के साथ ट्रेन के शौचालय में रेप, पटना से मथुरा आ रही थी युवती

    0

    मथुरा: घर से नाराज होकर पटना से मथुरा आ रही किशोरी ने ट्रेन के शौचालय में एक युवक द्वारा दुराचार करने का सनसनीखेज खुलासा किया है. वृन्दावन के एनजीओ की पहल पर जीआरपी थाने में मुकदमा दर्ज हुआ है. दुराचार किस ट्रेन में हुआ इस बारे में किशोरी स्पष्ट नहीं बता पा रही. उसकी दी गई जानकारी के आधार पर घटना तीन दिन पुरानी है।

    बिहार के जिला भभुआ में रहने वाली 13 वर्षीय किशोरी को लेकर वृन्दावन कोतवाली में तैनात उप निरीक्षक वेदपाल सिंह व महिला सिपाही अंजनी सोमवार की दोपहर जीआरपी थाने पहुंचे. किशोरी ने बताया कि वह 14 जुलाई को पटना से किसी ट्रेन में मथुरा के लिए सवार हुई थी. ट्रेन चलने के करीब आधे घंटे बाद एक युवक उसे ट्रेन के शौचालय में ले गया. किशोरी का आरोप है कि युवक ने उसके साथ दुराचार किया।

    युवक आगरा या उससे पहले पड़ने वाले किसी स्टेशन पर उतर गया. रविवार को किशोरी मथुरा जंक्शन पर उतरकर वृन्दावन जाने वाले टेम्पो में सवार हो गई. किशोरी का कहना है कि वृन्दावन में उसकी मौसी रहती है. टेम्पो चालक ने किशोरी से भाड़े के पैसे मांगे तो उसने बताया कि उसके पैसे और मोबाइल फोन कहीं गिर गया है. उसी टेम्पो में समाजसेविका डा. लक्ष्मी गौतम सवार थीं. उन्होंने भाड़े के पैसे टेम्पो चालक को दिए और किशोरी को अपने साथ लेकर अपने घर पहुंचीं।
    डा. लक्ष्मी गौतम ने बताया कि किशोरी को खाना खिलाने के बाद उसके बारे में जानकारी की तो उसने दुराचार होने की बात बताई।

    डॉ. गौतम ने बताया कि इसके बाद उन्होंने वृन्दावन कोतवाली पुलिस से बात की। वृन्दावन कोतवाली पुलिस ने मामला जीआरपी से सम्बन्धित होने की बात कहकर उसे जीआरपी थाने मथुरा भेज दिया। जीआरपी थाना पुलिस ने किशोरी की तहरीर के आधार पर अपराध संख्या शून्य पर मामला दर्ज कर उसे डॉक्टरी परीक्षण के लिए भेज दिया। जीआरपी थाना प्रभारी विजय सिंह ने बताया कि घटना पटना रेलवे स्टेशन से ट्रेन चलने के बाद हुई है। मामले को जांच के लिए वहीं भेजा जाएगा। जांच में जो भी सहयोग आवश्यक होगा किया जाएगा।

    ट्रेन के बारे में नहीं बता पाई पीड़िता 

    मथुरा। किशोरी के साथ दुराचार की घटना किस ट्रेन में हुई इस बारे में वह कोई स्पष्ट जानकारी नहीं दे पा रही है। पुलिस की माने तो पटना से कई ट्रेनें मथुरा के लिए आती है। किशोरी बस इतना बता पा रही है कि जिस ट्रेन में वह सवार थी, वह एक्सप्रेस थी । ट्रेन का नाम वह नहीं बता पा रही है।

    पीड़िता की मौसी करती है गऊशाला में काम

    किशोरी का कहना था कि उसकी मौसी वृन्दावन की किसी गऊशाला में काम करती है। उसका फोन नम्बर भी किशोरी को पता नहीं है। किशोरी की मदद को आगे आईं डा. लक्ष्मी गौतम ने बताया कि किशोरी ने उन्हें बताया कि उसके पास जो मोबाइल फोन था उसी में नम्बर था। मोबाइल फोन और रुपये रास्ते में कहीं गिर गए हैं। इस कारण उसकी मौसी के बारे में सही जानकारी नहीं मिल पा रही है।

    वृन्दावन पुलिस करती रही टालमटोल

    किशोरी के साथ दुराचार का पता लग जाने के बाद डा. लक्ष्मी गौतम ने इसकी सूचना वृन्दावन कोतवाली पुलिस को दी। डा. लक्ष्मी गौतम ने बताया कि कोतवाली प्रभारी का फोन मुंशी के पास था। काफी अनुनय विनय करने के बाद मुंशी ने कोतवाली प्रभारी से उनकी बात हो सकी। कोतवाली प्रभारी ने देर रात तक इस मामले का संज्ञान नहीं लिया। डा. लक्ष्मी गौतम ने बताया कि वह सोमवार की सुबह किशोरी को लेकर वृन्दावन कोतवाली पहुंची तब कही जाकर पुलिस ने सक्रियता दिखाई और मामले से पल्ला झाड़ते हुए शिकायत जीआरपी थाने में दर्ज कराने की बात कही। इसके बाद किशोरी को जीआरपी थाने भेजा गया।

    किशोरी, मां पर लगा रही गंभीर आरोप

    मदद को आगे आईं डॉ. लक्ष्मी गौतम ने बताया कि किशोरी अपनी मां पर गंभीर आरोप लगा रही है। उसकी मां और पिता दोनों ने उसे मामूली बात पर पीट दिया था। इसके बाद वह घर से निकलकर अपनी मौसी के पास आने के लिए ट्रेन में सवार हो गई, जहां उसके साथ दुराचार की घटना हो गई।

    Loading...