दर्दनाक हादसा, कार खाई में गिरने से पंजाब के 6 श्रद्धालुओं की मौत

0

बुद्ध पूर्णिमा पर बाबा बड़भाग सिंह गुरुद्वारा मैड़ी में माथा टेककर लौट रहे पंजाब के श्रद्धालुओं से भरी ओवरलोड  क्वालिस 50 फीट गहरी खाई में जा गिरी गई। हादसे में चार महिलाओं समेत छह लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि नौ अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए। हादसा हिमाचल के ऊना जिले के उपमंडल अंब के नैहरियां में यह सड़क हादसा हुआ।

एक बच्चा बाल- बाल बच गया। घायलों का अंब और ऊना अस्पताल में उपचार चल रहा है। हादसा सोमवार सुबह साढ़े 8 बजे हुआ। आठ सीटर गाड़ी में 16 लोग ठूंस-ठूंसकर भरे हुए थे।बैग और अन्य सामान भी पैरों में रखा हुआ था। आगे वाली सीट पर चालक के अलावा तीन और लोग बैठे थे। मैड़ी से एक किमी आगे तीखे मोड़ पर सामने से आ रहे टेंपो को पास देते समय चालक ने नियंत्रण खो दिया और गाड़ी खाई में गिर गई।पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस के अनुसार पंजाब के गुरदासपुर के खजाला गांव की स्वर्ण कौर (50) गुरदयाल सिंह की क्वालिस में संगत को लेकर अंब के मैड़ी में बाबा बड़भाग सिंह में माथा टेकने आई।

गाड़ी में चार बच्चों समेत 16 लोग सवार थे। लौटते समय हादसे का शिकार हो गए। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस, एंबुलेंस, फायर ब्रिगेड और एसडीएम अंब सुनील वर्मा मौके पर पहुंचे। घायलों और शवों को निकालने में स्थानीय लोगों ने भी मदद की। गंभीर रूप से घायल 4 लोगों को क्षेत्रीय अस्पताल ऊना रेफर किया गया है। दुर्घटना की वजह ओवरलोडिंग बताई जा रही है। वहीं, पुलिस ने क्वालिस चालक को उपचार के बाद हिरासत में ले लिया है। डीएसपी अंब मनोज जंबाल ने हादसे की पुष्टि की है।

हादसे में इनकी गई जान- सुरिंद्र सिंह (45) पुत्र सुरा सिंह निवासी सैंसोवाल, बटाला गुरदासपुर, हरदीप सिंह (25) पुत्र हजारा सिंह निवासी उधनवाल, बटाला। चार महिलाओं की अभी शिनाख्त नहीं हो पाई है। इनको लाने वाली स्वर्ण कौर खुद गंभीर हालत में ऊना अस्पताल में भर्ती है। शव अंब अस्पताल में रखे गए हैं।

हादसे में घायल- शबनम प्रीत कौर (15) पुत्री सतनाम सिंह, प्रेम सिंह (45) पुत्र भगवान दास, नवदीप कौर (6) पुत्री गुरदेव सिंह निवासी तरसीका तहसील बाबा बकाला (अमृतसर), निम्मो (22) पत्नी दीप निवासी उधनवाल खजाला बटाला शामिल हैं। इसके अलावा गंभीर घायल हुई स्वर्ण कौर (50) पत्नी प्रीतम सिंह निवासी भोलेवाल (गुरदासपुर), अमृतपाल (20) पुत्र तरसेम सिंह निवासी घुमाण बटाला (गुरदासपुर), सिमरन (16) पुत्री सरवन सिंह निवासी भोलेवाल और जसपाल सिंह (34) पुत्र काला राम निवासी ऊधनवाल बटाला को अंब से क्षेत्रीय चिकित्सालय ऊना रेफर किया गया है।

तीन माह के बच्चे को खरोंच तक नहीं- जाको राखे साइयां वाली कहावत इस हादसे में देखने को मिली। हादसे के समय तीन माह का आकाशदीप भी अपनी मां निम्मो की गोद में था लेकिन उसे खरोंच तक नहीं आई। हालांकि, उसकी मां चोटिल हुई है।

Loading...