मन की बात में बोले PM मोदी, GST का लागू होना ऐतिहासिक उपलब्धि

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को मन की बात कार्यक्रम को संबोधित किया। उन्होंने इस कार्यक्रम में तमाम राज्यों में आई बाढ़ का जिक्र करते हुए कहा कि इससे किसानों को नुकसान हुआ है। वहीं, पीएम मोदी ने इस कार्यक्रम से पांच साल का एजेंडा भी दिया। उन्होंने गंदगी, गरीबी, जातिवाद आदि का नारा दिया।

पीएम मोदी ने कहा, ‘मन की बात कार्यक्रम का मुझसे ज्यादा जनता तैयारी करती है।’ जीएसटी को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि इसका लागू होना एक ऐतिहासिक उपलब्धि है।

मन की बात कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, इस साल भारत छोड़ो आंदोलन के 75 साल पूरे हो रहे हैं। अगस्त का महीने को क्रांति का माह भी कहा जाता है। अगस्त माह में हमें संकल्प करना है। ये संकल्प आतंकवाद, जातिवाद, गंदगी आदि को भारत से दूर करने का है।

पीएम मोदी ने कहा कि मुझे खुशी है कि पिछले तीन साल से लगातार देश के हर कोने से मुझे सुझाव मिलते हैं कि मुझे क्या करना चाहिए। इस साल भी मैं कहता हूं कि मुझे सुझाव भेजें। पीएम मोदी ने कहा कि इस बार 15 अगस्त को 40-50 मिनट का छोटा भाषण देने की कोशिश होगी।

हाल ही में हुए महिला विश्व कप टूर्नामेँट के बारे में पीएम मोदी ने कहा, जब हमारी महिला क्रिकेट टीम की बेटियां विश्व कप फाइनल में सफल नहीं हो पाईं तो सवा सौ करोड़ लोगों ने हार को अपने कंधे पर रख लिया। इसकी बहुत खुशी हुई। मैंने कहा कि आप मैच जीतें या न जीतें लेकिन सवा सौ करोड़ हिन्दुस्तानियों का दिल जीत लिया है। इसके लिए मैं बेटियों को दिल से बहुत बहुत बधाई देता हूं।’

पीएम मोदी का ये 34वां मन की बात कार्यक्रम है। पीएम मोदी ने शुक्रवार को ट्वीट कर यह जानकारी दी थी। पीएम मोदी के ट्वीट के मुताबिक, ‘इस महीने मन की बात कार्यक्रम रविवार (30 जुलाई) सुबह 11 बजे देखें।

मन की बात कार्यक्रम का प्रसारण ऑल इंडिया रेडियो और दूरदर्शन पर किया गया। मन की बात कार्यक्रम के खत्म होने तुरंत बाद अकाशवाणी पर क्षेत्रीय भाषाओं में भी सुनाया जाएगा। बता दें कि पिछली बार पीएम मोदी ने बारिश, शौचालय, भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा आदि जैसे विषयों पर बात की थी।

तीन अक्टूबर, 2014 को शुरू हुआ था मन की बात

प्रधानमंत्री बनने के कुछ महीने बाद तीन अक्टूबर, 2014 को मन की बात कार्यक्रम की शुरूआत हुई थी। इस कार्यक्रम के जरिए से पीएम मोदी महीने के अंतिम रविवार को अहम विषयों पर जनता को संबोधित करते हैं।

Loading...