प्रतिष्ठा बचाने को प्रजा पर अत्याचार

0

आज खूंखार जंगली जानवरों से भरे घने अरण्य से अकेली गुज़रती 3 लड़कियां दिखाई दीं, पूछा तो ज्ञात हुआ विवि की व्यक्तिगत परीक्षाएं देने जा रही हैं, गाड़ियां नहीं हैं सो ऐसी जोखिम भरी परेशानी झेल रही हैं। तभी एक डंप ट्रक गुज़रता नज़र आया, जिस नयी नवेली दुल्हन को बस, बोलेरो या सूमो की नरम सीट पर होना चाहिए था वह डंप ट्रक पर लदे चुभते हुए कॉन्क्रेट के ऊपर लदी थी। सिलसिला थमा नहीं, तीन अधेड़ महिलाएं दिखाई दीं, हाथ मेँ छड़ी और सिर पर झोला लेकर हांफती हुयी, वह भी बस जीप न मिलने से इस क़दर परेशान थीं। चारधाम यात्रा की बड़ी कीमत स्थानीय यात्रियों को चुकानी पड़ रही है। माननीय मुख्यमंत्री श्री Trivendra Singh Rawat जी, चारधाम यात्रा भले ही अहम हो पर जिस निरीह प्रजा ने आप पर प्रचण्ड विश्वास व्यक्त किया, वह भी इन्सान ही है

वरिष्ठ पत्रकार : अजय रावत

Loading...