ONGC: खत्म हुई असमंजस की स्थिति, मुख्यालय देहरादून से नहीं होगा शिफ्ट

0
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान के साथ हुई बातचीत के बाद ये फैसला लिया गया है कि ओएनजीसी मुख्यालय पूरी तरह से अब राजधानी दून में ही रहेगा। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बताया कि ओएनजीसी के हेड ऑफिस को 17-18 साल पहले दिल्ली शिफ्ट कर दिया गया था। इसे अब दोबारा पूरी तरह से देहरादून वापस लाया जायेगा।

इसके साथ ही सीएम ने बताया कि ओएनजीसी में चल रहे महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज के प्रबंधन को डीएम देहरादून के अध्यक्षता में बनने वाली कमेटी संचालित करेगी। बता दें कि ओएनजीसी को शिफ्ट करने और महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज को बंद करने को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया था।

क्या था मामला 
दरअसल ओएनजीसी को देहरादून से दिल्ली भेजा जा रहा है, इस बात ने तब जोर पकड़ा जब उत्तराखंड इनकम टैक्स कमिश्नर के नाम ओएनजीसी का पैन नंबर दिल्ली स्थांतरित करने का पत्र जारी हुआ। लेकिन अब स्थिति स्पष्ट हो गई है कि न ओएनजीसी को दिल्ली शिफ्ट किया जायेगा और न ही स्थायी खाता संख्या (पैन) को उत्तराखंड से दिल्ली स्थांतरित होगा।

बता दें कि ओएनजीसी  के माध्यम से उत्तराखंड को बहुत बड़ा राजस्व का हिस्सा मिलता है। ऐसे में ओएनजीसी स्थायी खाता संख्या (पैन) को देहरादून से दिल्ली शिफ्ट करने से राज्य की राजस्व आय को काफी बड़ा झटका लगता। ओएनजीसी रोजगार का अहम स्रोत होने के अलावा, देहरादून की अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने में भी काफी बड़ा योगदान देता है।

Loading...