नरपाल सिंह ने दुश्मनों की टुकड़ी से लोहा लेते हुए वीर गति को प्राप्त हुए।

0
भारत-पाक युद्व की लड़ाई के हीरो व कारगिल शहीदों के परिजनों का सम्मान
शहिदों के परिजनों को दून डिफैन्स कैरियर प्वाइन्ट ने किया सम्मानित
उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत, विधायक रायपुर उमेश शर्मा काऊ रहे मौजूद
देहरादून। राजधानी देहरादून में दून डिफैन्स कैरियर प्वाइन्ट ने अपना छठवां वार्षिक उत्सव अंलकृत 2017 को बड़े धूमधाम के साथ मनाया। वार्षिक उत्सव में बतौर मुख्य अतिथि उत्तराखंड के उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत और विधायक रायपुर उमेश शर्मा काऊ ने शिरकत की। कार्यक्रम का शुभारम्भ उच्च शिक्षा मंत्री ने दीप प्रज्वलित कर किया। इस दौरान छात्र-छात्राओं ने सरस्वती बंदना के साथ ही मार्च पास्ट, लोक-संस्कृति, देशभक्ति से जुड़े रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत कर सभी दर्शकों का मन मोह लिया।
इस मौके पर आजादी के हीरो और देश की रक्षा की खातिर अपना सब कुछ कुर्बान कर देने वाले शहीदों को याद किया गया। कार्यक्रम के दौरान माननीय उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत और विधायक रायपुर उमेश शर्मा काऊ ने 1971 के भारत पाक-युद्व के हीरो कर्नल एसके बब्बर व ब्रिगेडियर केजी बहल को स्मृति चिन्ह व शाल भेंट कर सम्मानित किया गया। कारगिल शहीद नारपाल सिंह की माता जी श्रीमती पूरन देवी व शहीद राजेश जोशी की माता जी श्रीमती मुन्नी जोशी को वीर नारी सम्मान से नवाजा गया। शहीदों की माताओं को मुुख्य अतिथि द्वारा शाल उढ़ाकर स्मृति चिन्ह प्रदान किया गया साथ ही 11 हजार रूपये की राशि भी दी गई। सन् 1991 के कारगिल युद्व में कारिगल से पाकिस्तानी सैनिकों को खदेड़ने के दौरान 18 गढ़वाल राईफल्स के राइफल मैन नरपाल सिंह ने दुश्मनों की टुकड़ी से लोहा लेते हुए वीर गति को प्राप्त हुए। वहीं शहीद राजेश जोशी जिन्होने 11 साल देश की रक्षा की ताथ फिर देशसेवा करते हुए सन् 2004 को युद्ध  के दौरान वीर गति को प्राप्त हुए।
इस मौके पर लाॅयन्सं क्लब देहरादून ने सेन्टेनियल के सहयोग से रक्तदान, नेत्र जांच एवं स्वास्थ्य जांच शिविर, का भी आयोजन किया गया। जिसका लाभ क्षेत्र की जनता ने अधिक से अधिक संख्या में आकर प्राप्त किया।
इसी के साथ संस्था के निदेशक जेपी नौटियाल को माननीय मुख्य अतिथि और विर्शििष्ट अतिथि द्वारा स्मृति चिन्ह भेंट किया। वहीं संस्था द्वारा माननीय उच्च शिक्षा मंत्री उत्तराखंड व माननीय विधायक रायपुर विधानसभा को स्मृति चिन्ह व शाल भेंट किया गया। माननीय मुख्य अतिथि व बिशिष्टि अतिथि द्वारा छात्र छात्राओं को सम्बोधित कर उनके उज्जव भविष्य की कामना स्वरूप आर्शिबाद प्रदान किया गया। माननीय शिक्षामंत्री द्वारा छा़त्रों को संयम व साहस व दृढ संकल्प का पाठ पढाया व सभी को अपना साधुवाद व संस्थान को हमेशा प्रयासरत रहने व सहयोग प्रदान करने का आश्वासन दिया। इस दौरान संस्थान के निदेशक जेपी नौटियाल ने माननीयों को धन्यवाद ज्ञापित किया गया व संस्थान की 6 वर्षों की उपलब्धि पर प्रकाश डाला व पिछले 6 वर्षों में संस्थान डीडीसीपी ने 84 प्रतिशत रिजल्ट दिया। जिसके आधार पर संस्था उत्तर भारत में प्रथम स्थान पर है। उन्होंने कहा हर साल सस्थां ने 10 बीपीएल छात्र-छात्राओं को निशुल्क शिक्षा ग्रहण करते हैं। जिनको संस्था के माध्यम से पठन पाठन की सामग्री निशुल्क प्रदान की जाती है।
जेपी नौटियाल ने बताया कि गुणवत्ता बनाये रखना संस्था का पहला प्रयास रहा है। जिसके साथ किसी भी प्रकार का समझौता संबद्व नहीं है। उसी का प्रतिफल रहा कि संस्था में पढ़ने वाले छा़त्राओं ने जो कि पूरे भारत वर्ष के विभिन्न राज्यों से आते हैं ने 84 प्रतिशत सफलता प्राप्त की है। आज भारतीय सेनाओं में विभिन्न पदों पर सेवाएं प्रदान कर देश का नाम ऊंचा कर रहे हैं एवंम् दुनिया को अपना लोहा मनवा रहे हैं। संस्था को गर्व है कि अपने छात्र-छात्राओं पर जो इस जज्बे के साथ संस्थान को चुनते हैं और अपने भविष्य को सुनश्चित करते हैं। उन्होंने कहा कि हमारा सपना है कि संस्था को एक सैनिक स्कूल की तर्ज पर विकसित करना है। जिसका लाभ हर वर्ग के छात्र-छात्राओं को मिल सके और वह अपना भविष्य संवारे और देश के प्रति समर्पण की भावना लेकर भारतीय सेनाओं को कुशल व प्रशिक्षित जवान मिल सकें हैं। हमारा प्रथम उद्देश्य राष्ट्रहित में सर्वोपरि है।
Loading...