वीडियो: बदनाम होती दिख रही है मशरूम गर्ल

0

देहरादून: आजकल मशरूम गर्ल फिर से चर्चाओं में है लेकिन इस बार मामला मशरूम का नहीं बल्कि मोहल्ले का हो रखा है कई दिनों से सोशल मीडिया और न्यूज़ में सुर्खिया बन रही है आइये जानते है मामला है क्या…………..

पर्वतजन की खबर के अनुसार……

मशरूम गर्ल्स के नाम से उत्तराखंड की ब्रांड एंबेसडर के रूप में प्रसिद्ध मशरूम गर्ल्स के घर के बाहर एक तख्ती लगी रहती है, जिस पर लिखा है,- इस घर के कुत्ते तो ठीक है लेकिन मालिक पागल है। दरवाजे पर सौम्या फूड लिमिटेड की तख्ती भी लगी है। आइए जानते हैं सौम्य फ़ूड और उनके मालिकों की एक और असलियत। दिव्या रावत और उनकी बहनों ने बाहर भले ही जितना नाम कमाया हो, लेकिन संभवतः प्रसिद्धि के साथ वांछनीय विनम्रता मे वे कृपण रह गए । आस-पड़ोस के लोग उनसे बेइंतहा नफरत करते हैं। संस्थान के नाम की तरह सौम्यता तो दूर-दूर तक नजर नहीं आती।

इसके पीछे का खौफनाक सच यह है कि दिव्या रावत की बहनें अपने आस पड़ोस के लोगों के साथ न सिर्फ बदतमीजी से पेश आती हैं, बल्कि मार-पिटाई और अश्लील गाली गलौज से भी पीछे नहीं हटती।बात-बात में आसपास की सीधी साधी पहाड़ी महिलाओं को यौन सूचक गालियां देना और घर में घुस कर मार पिटाई करना इनकी आए दिन की आदत है। कुछ दिन पहले मशरूम गर्ल के नाम से पहचान रखने वाली दिव्या रावत ने एक दिसंबर को अपने कुत्ते को लेकर हुए हंगामे मे पास पड़ोस के लोगों की शिकायत पुलिस में की तो एक बार फिर से लोगों का ध्यान इनकी ओर गया और दूर से इनके काम से इन्हे जानने वाले लोगों की काफी सहानुभूति भी दिव्या रावत के साथ जताई गई।  मीडिया ने दिव्या रावत के साथ हुई बदसलूकी को बढ़ा-चढ़ाकर दिखाया और 2 दिन बाद अखबारों की सुर्खियों से हटते ही लोग इस किस्से को भूल गए। पर्वतजन को पहले दिन से ही यह लगता था कि इस पूरे प्रकरण में दूसरे पक्ष की बात मीडिया में नहीं उठाई गई। हकीकत जानने के लिए जब हमने इसकी तहकीकात की दिव्या रावत के गांव में गये और आस-पास के लोगों से इस प्रकरण के बारे में जानकारी जुटाई तो असलियत कुछ और ही सामने आई.

दिव्या रावत के आसपास के लोगों ने कुछ ऐसी वीडियो बताई जिससे साफ पता चलता है की दिव्या रावत की बहनें किस तरह से अपने आस पड़ोस की सीधी-सादी पहाड़ी महिलाओं को आतंकित करके रखती हैं। इन महिलाओं से बात की गई तो यह महिलाएं अधिकांश किराए पर रहती हैं और उनके पति कहीं फौज में या अन्यत्र जॉब में है और उन्होंने बच्चों की पढ़ाई के लिए देहरादून में यह कमरे किराए पर लिए हुए हैं। वह लोग किराएदार होने के कारण दिव्या रावत का खौफ सहने के लिए इसलिए भी मजबूर हैं कि एक तो दिव्या रावत की बड़े-बड़े लोगों तक पहुंच होने के कारण इन महिलाओं की कहीं सुनवाई नहीं होगी और दूसरा कोई बवाल होने पर मकान मालिक भी इन्हें कमरा खाली करने के लिए कह सकता है।

महिलाओं से जो बात की उससे यह पता चलता है कि सौम्या फूड प्राइवेट लिमिटेड के नाम से कंपनी चलाने वाली दिव्या रावत और उनकी बहने कुछ कुत्ते पालती हैं जो बेहद खतरनाक हैं और सड़क से गुजरने वाले लोगों के पीछे काटने के लिए दौड़ते रहते हैं। यदि इन्हें रोका टोका जाए तो यह बहनें बाकायदा अश्लील गालियां देते हुए मरने-मारने पर उतारू हो जाती हैं तथा अपनी पहुंच का हवाला देते हुए मार कुटाई तक कर डालती हैं ।
सभी महिलाओं से जो बात की इससे यह पता चलता है कि सौम्या फूड प्राइवेट लिमिटेड के नाम से कंपनी चलाने वाली दिव्या रावत और उनकी बहने कुछ कुत्ते पालती हैं जो बेहद खतरनाक हैं और सड़क से गुजरने वाले लोगों के पीछे काटने के लिए दौड़ते रहते हैं। यदि इन्हें रोका टोका जाए तो यह बहनें बाकायदा अश्लील गालियां देते हुए मरने-मारने पर उतारू हो जाती हैं तथा अपनी पहुंच का हवाला देते हुए मार कुटाई तक कर डालती हैं । घटना वाले दिन भी कुछ ऐसा ही हुआ स्कूल जा रहे एक बच्चे को काटने के लिए दिव्या रावत का कुत्ता दौड़ा तो उसकी मां तेजी से अपने बच्चे को बचाने आई और सिर्फ इतना ही कहा था कि अपने कुत्ते को घर के अंदर बांध के रखा करो, बस फिर क्या था ! दिव्या रावत की बहनों ने बात का बतंगड़ बना दिया और आस-पड़ोस की महिलाओं को बाकायदा घर में घुस कर मारा।

दरवाजे खिड़कियां तोड़ डाली, गमले और बाल्टियां आदि भी नष्ट कर दी। जब आसपास के लोग उनके समर्थन में आए और उन्हें लड़ाई- झगड़ा न करने के लिए कहने लगे तो यह बहनें पुलिस की मौजूदगी में ही सबसे उलझ पड़ी।नाम कमाने में एक लंबा दौर गुजर जाता है और उस नाम को बदनाम करने के लिए सोशल मीडिया एक ऐसा फॉर्मूला है, जो तुरंत असर करता है। मशरूम गर्ल दिव्या रावत के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ है।

राज्यसमीक्षा की ख़बर के अनुसार…..

नाम कमाने में एक लंबा दौर गुजर जाता है और उस नाम को बदनाम करने के लिए सोशल मीडिया एक ऐसा फॉर्मूला है, जो तुरंत असर करता है। मशरूम गर्ल दिव्या रावत के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ है। हाल ही में सोशल मीडिया पर एक वीडियो बड़ा वायरल हो रहा है। इस वीडियो में बताया जा रहा है कि उत्तराखंड की मशरूम गर्ल दिव्या रावत और उनका परिवार लोगों को धमकी दे रहा है। लेकिन कुछ बातें और भी हैं, जिनके बारे में आपका जानना बेहद जरूरी है। दरअसल सबसे पहले ये बात जान लीजिए कि इस वीडियो में दिव्या रावत नहीं बल्कि उनकी बहन हैं। अब सवाल ये उठता है कि आखिर उनकी बहन लोगों को क्यों धमका रही हैं ? राज्य समीक्षा ने ये सारी बातें जानने की कोशिश की हैं।

राज्य समीक्षा से बातचीत में दिव्या रावत ने बताया है कि इससे पहले कुछ लोग उनकी लैब में घुस आए थे। इस दौरान लोगों ने दिव्या रावत से काफी गाली गलौच की थी। ये गालियां इतनी बुरी थी कि दिव्या ने एक कमरे में खुद को बंद कर दिया था। वो काफी देर तक रोती रही। इसके बाद उनकी बहन उनके सामने आई और जब इस पूरी बात के बारे में जाना तो, वो उन लोगों पर भड़क गई, जो दिव्या को गाली दे रहे थे। जाहिर सी बात है कि जब परिवार के छोटे लोगों को इस तरह से धमकाया जाता है, तो रिएक्शन सामने आता है। दिव्या को सोशल मीडिया पर जबरन बदनाम किया जा रहा है, ऐसे वक्त में दिव्या का कहना है कि वो बेहद ही परेशान हैं और उत्तराखंड से दूर जाने का ख्याल उनके दिमाग में आ रहा है।

बिना तथ्यों की पड़ताल किए बिना जिस तरह से दिव्या को बदनाम करने की साजिश हो रही है, उस बारे में दिव्या का कहना है कि जिस दिन उनके दरवाजे पर आकर कुछ लोगों ने उन्हें धमकी दी थी, ये वीडियो उसी दिन का है। उस दौरान लोगों ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी थी। उत्तराखंड के लोगों से अपील करते हुए दिव्या कह रही हैं कि वीडियो के जरिए गलत संदेश लोगों तक पहुंचाया जा रहा है और उन्हें बदनाम करने की साजिश रची जा रही है।

Loading...