बेरहम मां ने अपने तीन बच्चों को नहर में फेंका, तीनों मासूमों की मौत, खुद बच गई

    0

    सास से कहासुनी होने से नाराज महिला तीन बच्चों के साथ गंगनहर में कूद गई। नहर में डूबने से तीनों बच्चों की मौत हो गई। महिला को पुलिस ने हिरासत में लिया है। उधर, अस्पताल तीन बच्चों का शव देखकर हर कोई बिलख उठा।

    लिब्बरहेड़ी मंगलौर निवासी फरजाना की शादी करीब सात साल पहले भगवानपुर क्षेत्र के सिरचंदी गांव निवासी अरशद के साथ हुई थी। इंस्पेक्टर गंगनहर कमल कुमार लुंठी ने बताया कि शुरुआती जांच में पता चला कि फरजाना की किसी बात को लेकर अपनी सास से कहासुनी हुई थी। उसके बाद वह अपनी चार साल की पुत्री, दो साल और छह माह के पुत्र के साथ ससुराल से रुड़की आ गई। शाम करीब चार बजे वह तीनों बच्चों को लेकर गणेशपुर पुल पर पहुंची।

    उसने पहले अपने तीनों बच्चों को गंगनहर में फेंका और उसके बाद खुद भी नहर में कूद गई। आसपास मौजूद कुछ लोग गंगनहर में कूद गए और महिला और तीनों बच्चों को बाहर निकाल लिया। पुलिस ने सभी को अस्पताल पहुंचाया। जहां चिकित्सकों के तीनों बच्चों को मृत घोषित कर दिया। महिला को पुलिस ने हिरासत में लिया है। इंस्पेक्टर ने बताया कि महिला का पति हरिद्वार से बाहर कहीं मजदूरी करता है। महिला के पति के जानकारी दी गई है। मायके और ससुराल पक्ष के लोगों को बुलाया गया है। मायके पक्ष के कुछ लोग कोतवाली पहुंचे। इंस्पेक्टर ने बताया कि उनसे जानकारी ली जा रही है। पति के आने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

    Loading...