खनन माफिया अब बन गए साधू-संत, अपने खोदे गढ्डे में फंसे भाजपाई

0

पूर्व सीएम हरीश रावत ने खनन के मसले पर भाजपा सरकार को जमकर घेरा। पूर्व सीएम ने कहा कि जब हरीश रावत सरकार में खनन हो रहा था उस समय खनन करने वाले माफिया थे और अब भाजपा के समय में खनन हो रहा है तो वही माफिया अब साधू- संत हो गए हैं।[ads1][ads1]

बीजापुर गेस्ट हाउस में पीसी करते हुए पूर्व सीएम हरीश रावत ने कहा कि शराब प्रकरण भाजपाइयों का खोदा हुआ गढ्डा है, जिसमें इस समय वे खुद फंसे हुए हैं। शराब को हमने मंडी को सौंपा था, मंडी से वापस लेकर इन्होंने पुराने सिंडिकेट को सौंप दिया। हरीश रावत ने कहा कि स्टेट हाईवे को भाजपा ने म्युनिसिपल रोड बना दिया, उसका रख- रखाव कौन करेगा। [ads1][ads1]उन्होंने कहा कि मेरा दावा है इंडियन रोड कांग्रेस ने हमारे स्टेट हाईवे को उत्तर भारत का सबसे सर्वश्रेष्ठ हाईवे बताया है। ऐसे में उनका डीनोटिफिकेशन करने से कहीं ऐसा न हो राज्य के लिए बड़ा रेक्टोगेटिव स्टेप सिद्ध हो। उन्होंने शराब को लेकर महिलाओं के विरोध पर कहा कि थैंक्स टू महिला शक्ति। खनन पर हरीश रावत ने कहा कि खनन के राजस्व को हमने साठ करोड़ से साढ़े तीन सौ करोड़ पहुंचाया। कहा कि जिस समय हरीश रावत के समय में खनन हो रहा था उस समय खनन करने वालों को माफिया कहा जाता था। जब भाजपा सरकार के समय में खनन हो रहा है तो वही खननकर्ता अब साधू- संत हो गए हैं। हरीश ने चुटकी लेते हुए कहा कि खनन कारोबारियों के बीच यह अंतर रातों- रात हुआ है,[ads1][ads1] भाजपा वाले इसका राज हमें भी बता दें। भाजपा सरकार द्वारा हेली सेवा के टेंडर निरस्त करने पर पूर्व सीएम हरीश रावत ने निर्णय को दुर्भाग्यपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि यह निर्णय राज्य हित में नहीं है.

Loading...