महिलाओं ने डीएम का किया घेराव, शराब की दुकान सीज

0

पौड़ी गढ़वाल: पहाड़ में शराब के खिलाफ आंदोलन और तेज हो गया है। पौड़ी में महिलाओं ने माल रोड पर दोबारा शराब की दुकान खुलने पर सोमवार को डीएम को ही घेर लिया, जिस पर डीएम को शराब की दुकान सीज करने का आदेश देना पड़ा।

पौड़ी में शराब की दुकान बंद किए जाने को लेकर महिलाएं मुखर हो गई। दरअसल, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद माल रोड पर शराब की दुकान को 15 अप्रैल को बंद कर दिया गया था, लेकिन 19 तारीख को इसे फिर खोल दिया गया, जिसका महिलाएं विरोध कर रही थी। [ads1][ads1]

सोमवार को नशा मुक्ति अभियान की संयोजिका सरिता नेगी के नेतृत्व में विभिन्न गांवों से आई महिलाएं कलक्ट्रेट के बाहर एकत्रित हुई तथा शराब की दुकान बंद किए जाने की मांग को लेकर धरने पर बैठ गई। उनका कहना था कि महिलाएं लंबे समय से शराब की दुकानों का विरोध कर रही हैं लेकिन इस पर प्रशासन का लचर रवैया उन्हें आंदोलन जैसे कदम उठाने को मजबूर कर रहा है।

इस बीच पालिकाध्यक्ष यशपाल बेनाम भी कलक्ट्रेट पहुंचे तथा उन्होंने भी महिलाओं के आंदोलन का समर्थन किया। बाद में आंदोलनकारी महिलाएं डीएम चंद्रशेखर भट्ट से मुलाकात को पहुंची। यहां एसएसपी मुख्तार मोहसिन व जिला आबकारी अधिकारी प्रभाशंकर मिश्रा भी मौजूद थे। महिलाएं यहां भी एक स्वर में पौड़ी की शराब की दुकान बंद करने की मांग पर अड़ गई।[ads1][ads1]

काफी हो-हल्ला भी हुआ और महिलाएं डीएम कक्ष में ही धरने पर बैठ गई। उन्होंने अधिकारियों की एक न सुनी। कहा शराब से घर के घर तबाह हो रहे हैं, लेकिन इस ज्वलंत समस्या के प्रति प्रशासन उदासीन बना हुआ है। बाद में मामला तूल पकड़ता देख जिलाधिकारी चंद्रशेखर भट्ट ने शराब की दुकान सीज करने के निर्देश दिए। प्रदर्शनकारियों में राजेश्वरी देवी, सरिता नेगी, नीमा कुकरेती, रीना रौथाण, अशोक बिष्ट, सावित्री ममगाईं, हीरा रावत, सुनीता, लक्ष्मी देवी, सुशीला, सुलोचना आदि शामिल थे।

 

Loading...