IS के चंगुल से छूटे डॉक्टर राममूर्ति, मोदी को कहा- शुक्रिया

0

लीबिया में आतंकवादी संगठन आईएसआईएस के चंगुल में फंसे डॉ.के.राममूर्ति समेत छह भारतीय वापस लौट आए हैं।  राममूर्ति बीते 18 महीनों से आईएसआईस की कैद में थे। भारत वापस लौटने के बाद राममूर्ती ने पीएम मोदी को एक लेटर लिखकर अपनी आपबीती के बारे में बताया, साथ ही उन्हें धन्यवाद भी कहा।

भारत वापस आए डॉ.के.राममूर्ति ने पीएम मोदी को लेटर लिखकर सुनाई आपबीती

डॉक्टर ने अपने लेटर में लिखा, “आतंकी लगातार मुझ पर ऑपरेशन करने का प्रेशर डालते रहे। मुझे ऑपरेशन थिएटर में जाने के लिए कहते रहे। लेकिन मैंने कुछ भी नहीं किया। इस दौरान मैंने न कोई ऑपरेशन किया और न ही एक टांका लगाया। जब भी मैं ऐसा करने से मना करता था तो मुझे मारने की धमकी दी जाती थी। डॉक्टर ने अपनी कलाई भी दिखाई जिसपर आईएस वालों ने गोली मार दी थी। उनके हाथ में अब भी गोली फंसी हुई है।वो सोचते थे कि मैं एक डॉक्टर हूं और एक न एक दिन उनके काम आ जाऊंगा। इसलिए उन्होंने मुझे जिंदा रखा। शायद इसलिए मैं बच भी गया। उन्होंने बताया कि आईएस के युवा आतंकी बहुत पढ़े- लिखे हैं और भारत के बारे में सब जानते हैं।

राममूर्ति ने आगे कहा- ” रिहाई और भारत सरकार की कोशिशों के लिए मैं प्रधानमंत्री, एनएसए, सुषमा स्वराज और दूसरे अफसरों को थैंक्स कहना चाहूंगा। इन सभी की कोशिशों से मैं घर लौट सका। मैं कभी नहीं भूल सकता।”

Loading...