अक्‍तूबर तक करें इंतजार, ये मिलेगा फायदा, अगर घर बनाने जा रहे हैं

0

अगर आप देहरादून में घर बनाने जा रहे हैं तो थोड़ा इंतजार कर लीजिए। अक्‍तूबर तक आपको भवन निर्माण सामग्री सस्ती मिलेगी। सरकार नए सीजन से 24 नए लॉट खोलने की योजना बना रही है। राज्य सरकार राजस्व बढ़ाने के लिए अक्टूबर से शुरू होने वाले खनन के लिए नए लॉट चिह्नित कर रही है। उत्तराखंड वन विकास निगम के मार्फत इन लॉटों में खनन किया जाएगा। इसके लिए प्रदेश भर में खनन के नए लॉट खोलने की अनुमति केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय से ली जानी है।

निगम ने इसकी प्रक्रिया शुरू कर दी है। परमिशन मिलने के बाद प्रदेश में खनन के और पट्टों को आवंटन होगा। जिससे खनन से निकलने वाला माल सस्ता हो सकता है। वन एवं पर्यावरण मंत्री ने बताया कि डॉ. हरक सिंह रावत ने बताया कि राजस्व बढ़ाने और लोगों को घर बनाने के लिए सस्ता माल उपलब्ध कराने को खनन के नए लॉट खुलेंगे। हरिद्वार, कोटद्वार, देहरादून व कुमाऊं में करीब 24 नए लॉट खोलने की योजना है। केंद्र से मंजूरी मांगी है।

अभी 15 लॉटों में हो रहा खनन 

प्रदेश में अभी वन निगम 15 लाटों में खनन का काम कर रहा है। जिनमें सबसे ज्यादा 7 लॉट हरिद्वार में हैं। जबकि देहरादून में तीन और कुमाऊं में पांच लॉट हैं। सूत्रों के अनुसार 15 जून को खनन बंद होने से माल की उपलब्धता काफी कम हो गई है। हिमाचल से जा माल आ रहा है उसकी कीमतें लगभग दोगुनी हैं, ऐसे में सरकारी ठेकेदारों ने काम बंद कर दिया है। अब प्रदेश में खनन शुरू होने पर ही वे काम करेंगे।

तीन साल में तीन गुना दाम 

बिल्डिंग मटीरियल सप्लायर संजीव मल्होत्रा के अनुसार अभी खनन के सीजन में रेत की एक ट्राली की कीमत करीब 1800 के आसपास थी, जबकि बजरी 2200 और पत्थर 1700 प्रति ट्राली के हिसाब से बिका। पर खनन बंद होने के बाद रेत 3200 से 3500 , बजरी 3800 से 4000 और पत्थर भी करीब 3800 से 4200 रुपये ट्राली हो गई है। यह निर्माण सामग्री हिमाचल से आ रही है। तीन साल पहले ये कीमतें लगभग आधी थीं।

Loading...