विदेशी जोड़े ने भारतीय रीति-रिवाज से फिर की शादी, शादी में परोसे गये पहाड़ी पकवान

0

अमेरिका के क्रिस ओर डेना ने भारतीय रीति- रिवाज के अनुरूप अपनी दसवीं सालगिरह मनाई। इस दौरान विभिन्न शहरों से मेहमनों को भी आमंत्रित किया गया। उन्होंने भारतीय संस्कृति के अनुरूप अपनी फिर से शादी की।

शनिवार को सहस्रधारा रोड स्थित काफल रेस्तरां में एक अलग ही नजारा देखने को मिला। ढोल नगाड़े के साथ लोग खूब डांस कर रहे थे। वहीं भारतीय दूल्हे और दुल्हन की वेशभूषा में क्रिस और डेना पर सभी की नजर थी। पूरे भारतीय परिधान में दोनों को देखने के लिए अन्य जगहों से आए लोगों की भीड़ लग गई। क्रिस ने बताया कि उन्हें भारत काफी अच्छा लगता है। अमेरिका में डेना के साथ शादी के बंधन में बंधने के बाद भारत आए तो यहां की संस्कृति उन्हें काफी पसंद आई। और इसके बाद हिन्दी सीखने का मन बनाया। देहरादून के जाखन स्थित एक कोचिंग सेंटर से तीन साल तक हिन्दी सीखी।

उन्होंने बताया कि यहां के लोग, संस्कृति, रीति रिवाज उन्हें काफी प्रभावित करती हैं, जो कहीं दूसरे देश में नहीं मिल सकती। वहीं डेना ने बताया कि वह अपने दोनों बच्चे सैम और अलिशा को भी हिन्दी सीखने पर जोर देंगे। कहा कि वह चाहती हैं कि सभी भारतीय संस्कृति को अपनाएं। इसके बाद जयमाला और केक सेरेमनी की गई। इस दौरान डेना के मां पापा हैरी और कैथी ने भी आर्शीवाद दिया। जिसके बाद सभी मेहमानों के लिए उत्तराखंडी भोजन परोसा गया। काफल रेंस्टोरेंट के ओनर मोहन लखेड़ा ने बताया कि क्रिस और डेना उनके पिछले पांच महीने से लगातार ग्राहक हैं। वह जब भी रेस्टोरेंट पहुंचते हैं उत्तराखंड खाने की मांग करते हैं। दसवीं सालगिरह पर उन्होंने कापली और चैंसू की मांग करते हुए इसे मेहमानों के बीच पहुंचने की बात कही। सभी मेहमानों ने उत्तराखंडी के व्यंजन का लुत्फ उठाया।

Loading...