बॉडी बनाने को लिए फूड सप्लीमेंट ने बर्बाद की इंजीनियर की जिंदगी, करनी पड़ी खुदकुशी

0

राजपुर रोड पर यूनिवर्सल पेट्रोल पंप के पास गली में मृत मिले सॉफ्टेवयर इंजीनियर यतीन वर्मा की मौत की गुत्थी बुधवार को सुलझ गई। पुलिस के अनुसार यतीन बॉडी बनाने के लिए फूड सप्लीमेंट ले रहा था, लेकिन इसके साइड इफेक्ट और लत के चलते अब वो परेशान रहने लगा था। आखिरकार उसने खुद को दून व्यू होटल के कमरे में गोली मार कर जान दे दी। पुलिस ने होटल से आत्महत्या से पहले लिखे गए दो सुसाइड नोट, एक डायरी, दो तमंचे और खून लगा बिस्तर बरामद किया है। इस मामले में होटल के दो कर्मचारियों को साक्ष्य छुपाने के जुर्म में गिरफ्तार किया है। जबकि एक अन्य आरोपी अभी फरार चल रहा है।

एसएसपी निवेदिता कुकरेती ने बुधवार शाम यतीन वर्मा (27) निवासी तल्ला कत्यूर, जिला बागेश्वर की मौत के खुलासे की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि यतीन की हत्या नहीं हुई थी। यतीन का शव जहां पड़ा मिला था, उसके दूसरी ओर के होटल दून व्यू में वह 25 नवंबर से ठहरा था। लेकिन अपनी कमाई के चक्कर में होटलकर्मी राजकुमार निवासी नजर अलीकापुरा जिला सुल्तानपुर और उसके सहयोगी शत्रुघ्न निवासी हसुवा सुरमन थाना जगदीशपुर जिला सुल्तानपुर (यूपी) ने उसकी इंट्री होटल रजिस्टर में नहीं की।

250 प्रतिदिन किराया तय कर होटल के रूम संख्या-7 में रुके यतीन ने 25 नवंबर तक का किराया चुकाया था। 26 नवंबर को दिनभर वह होटल के बाहर नहीं निकला। शाम 4.30 होटलकर्मी राजकुमार ने उसके कमरे का दरवाजा खटखटाया। लेकिन अंदर से कोई आवाज नहीं आई। रात करीब 11 बजे प्लाई हटाकर अंदर देखा तो यतीन मृत पड़ा दिखाई दिया।

मौके से पुलिस को दो सुसाइड नोट और डायरी भी मिली। डायरी में उसने अपने हर रोज की दिनचर्या लिखी हुई थी। जबकि एक सुसाइड नोट में उसने बताया कि चकराता रोड पर बल्लूपुर स्थित एक जिम में उसे बॉडी बनाने के लिए फूड सप्लीमेंट लेने की सलाह दी गई। जिम में वह पढ़ाई के दिनों से जाता था। लेकिन फूड सप्लीमेंट लेने के बाद उसे इसकी लत लग गई। साथ ही इसके साइड इफेक्ट के चलते शरीर में दर्द भी रहने लगा। इससे परेशान होकर ही वह नौकरी नहीं कर पाया। आखिरकार उसे आत्महत्या करनी पड़ रही है। एसएसपी ने बताया कि इसके बाद जिम को सील कर दिया गया है, साथ ही जांच के दायरे में जिम संचालक को भी शामिल किया गया है।

होटल कर्मियों ने ठिकाने लगाई लाश
राजकुमार ने पुलिस को बताया कि होटल में यतीन के आने की इंट्री नहीं होने और उसके आत्महत्या करने के चलते वह घबरा गया। इसके बाद उसने यह बात साथी शत्रुघ्न और रात को उनके साथ सोने वाले पड़ोस के कॉप्लेक्स के गार्ड अखिल को बताई। इसके बाद तीनों ने घटना पुलिस को बताने के बजाय प्लान बनाया कि खुद को कार्रवाई से बचाने के लिए शव को होटल के बाहर डाल देते हैं। तीनों ने मिलकर देर रात उसके शव को सड़क के दूसरी ओर स्थित होटल के नीचे उसका शव डाल दिया। जबकि खून से सने उसके कमरे के बिस्तर, बैग, पास पड़े तमंचे को छत पर बनी पानी की खाली टंकी में रख दिया। साथ ही कमरे को धुलकर साफ कर दिया। पुलिस ने दोनों होटल कर्मचारियों को गिरफ्तार कर आत्महत्या के लिए प्रयुक्त तमंचा, तीन जिंदा कारतूस, एक खोखा और यतीन के बैग में रखा एक और तमंचा व चाकू बरामद किया।

जिम के संचालक को बताया जिम्मेदार
दून होटल से यतीन की मौत की गुत्थी की लीड मिलने पर पुलिस ने बेटे का शव बागेश्वर ले जा रहे यतीन के पिता को कर्णप्रयाग से वापस बुला लिया। यतीन के शव को अन्य लोग अपने साथ ले गए। जबकि वह बुधवार सुबह दून वापस पहुंच गए। यहां उनकी मौजूदगी में पुलिस और फॉरेंसिक एक्सपर्ट टीम ने होटल से साक्ष्य जुटाए।

खुलासा करने वाली टीम
सीओ सिटी चंद्रमोहन सिंह, इंस्पेक्टर कोतवाली बीबीडी जुयाल, एसएसआई कोतवाली अर¨वद कुमार, एसआई विकास रावत, जितेंद्र कुमार, अनिल चौहान, उमेश कुमार, अमरजीत सिंह, प्रद्युम्न नेगी, प्रमोद कुमार, अनिरुद्ध कोटियाल, पंकज महिपाल, सिपाही मनोज कुमार, लोकेन्द्र उनियाल, बृजमोहन, तेज सिंह, रवि शंकर, संजय सिंह, मुकेश बंगवाल, देवेंद्र सिंह, विजय गब्र्याल, पंकज मलासी, त्रिलोक सिंह, प्रवेंद्र सिंह, एसओजी सिपाही आशीष शर्मा और प्रमोद।

जिम संचालक को मारने की थी तैयारी!
यतीन ने जिस तरह डायरी में सुसाइड नोट लिखा था, उससे साफ नजर आ रहा है कि वह अपने दर्द से बुरी तरह पीड़ित था। सुसाइड नोट में उसने यह भी लिखा कि खुद आत्महत्या करने के साथ ही वह उसे फूड सप्लीमेंट देने वाले जिम संचालक की जान भी ले सकता है। यही वजह रही होगी कि उसने 315 बोर के दो तमंचे ले रखे थे। हालांकि अपने मंसूबे में कामयाब नहीं होने पर खुद ही आत्महत्या कर ली होगी।

सीसीटीवी फुटेज से फंसे
होटल से शव को बाहर डालने वाले दोनों आरोपी अपने ही होटल के सीसीटीवी फुटेज से फंस गए। मंगलवार रात पुलिस दून व्यू होटल की सीसीटीवी फुटेज चेक रही थी तो 25 नवंबर की रात यतीन होटल में प्रवेश करता दिखाई दे गया। इसके बाद पुलिस ने दोनों होटल कर्मचारियों से कड़ाई से पूछताछ के बाद वारदात का खुलासा कर दिया। पूछताछ के बाद राजकुमार और शत्रुघ्न को गिरफ्तार किया गया है, आरोपी गार्ड अखिल अभी फरार है।

Loading...