मूसलाधार बारिश से उत्तराखंड में कई सड़क मार्ग बाधित

0
देहरादून: बुधवार को देहरादून में सुबह की शुरुआत जिस तेज बारिश के साथ हुई वह लगातार चार घंटों तक जारी रही। सुबह करीब सात बजे से शुरू हुई तेज बौछारें 12 बजे के बाद भी जारी रही।‌ जिससे देहरादून सहित आसपास के इलाकों में इमरजेंसी जैसे हालात पैदा हो गए हैं।
भारी बारिश के दौरान बादल फटने से देहरादून-सहारनपुर मार्ग पर डाट काली मंदिर से तीन किलोमीटर आगे सड़क ध्वस्त हो गई। साथ ही यहां मलबा आने से देहरादून-सहारनपुर मार्ग बंद हो गया। इस रूट पर सैकड़ों वाहन फंसे हुए हैं। देहरादून मसूरी मार्ग कई स्थानों पर मलबा आने के कारण अवरुद्ध हो गया है। पुलिस तथा प्रशासन की टीम द्वारा मौके पर पहुंचकर मलबा हटाने का कार्य किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त चौकी सभावाला में आसन नदी का पानी घुस जाने के कारण चौकी परिसर की एक दीवार ढह गई है।मालदेवता से आगे सरखेत गांव का संपर्क मार्ग बारिश से टूट गया है। पीडब्ल्यूडी के अधिकारी सड़क मार्ग बनाने की कोशिश कर रहे हैं। विकासनगर में आसन नदी में एक वन गुज्जर बह गया है। इस सूचना पर उपजिलाधिकारी विकासनगर और चौकी झाझरा से पुलिस फ़ोर्स रवाना हुई और झाझरा आडवाणी पुल के पास मौजूद एनडीअरएफ को भी साथ लिया गया। वहीं मलबा आने देहरादून-मसूरी मार्ग बंद हो गया है।। मार्ग खोलने में जेसीबी जुटी है।

लगभग 2 किलोमीटर आगे परवल गांव के पास उक्त वन गुज्जर को रेस्क्यू कर किनारे लाया गया। एनडीआरएफ की टीम द्वारा उक्त व्यक्ति को प्राथमिक उपचार दिया गया लेकिन व्यक्ति को बचा नहीं पाए। मृतक की पहचान कालू पुत्र रोशनदीन निवासी सभावाला थाना सहसपुर देहरादून के रूप में हुई। मृतक का शव चौकी नयागांव थाना पटेलनगर द्वारा पंचायतनामा भरकर पोस्टमार्टम हेतु भेजा गया है।

मौसम विभाग के अलर्ट को देखते हुए बृहस्पतिवार को देहरादून जिले के सभी सरकारी और गैर सरकारी स्कूल बंद रहेंगे। जिलाधिकारी के आदेश पर मुख्य शिक्षा अधिकारी एसबी जोशी ने निर्देश जारी किए हैं। देहरादून में भारी बारिश के चलते सड़कें तालाब बन गई हैं। कई सड़कों पर नदियां बहने जैसी स्थित है। कई सड़कें बंद हो गई हैं। कई इलाके में पानी में जलमग्न हो गए हैं। हरिद्वार रोड का ट्रैफिक रिंग रोड डायवर्ट करने से जाम लग गया। तरला नागल सहस्रधारा रोड पर पानी के तेज बहाव से आधी सड़क बह गई है। रायपुर के सिला, सरखेत, क्यारा समेत कई जगहों में बारिश से नाले ऊफान पर, रास्ते टूटे। स्कूलों में मलबा घुस गया मलबा।

मौसम विभाग के मुताबिक प्रदेश में अगले 24 घंटे भारी गुजर सकते हैं। नगर निगम के बदहाल इंतजाम होने के कारण लोगों का गुस्सा बढ़ गया है। जगह-जगह ड्रेनेज सिस्टम बंद होने से मुसीबत बढ़ गई है। कई जगहों पर नालियां बंद पड़ी हैं। ऐसे में पानी सड़कों  पर बह रहा है।

देहरादून के रायपुर में एक बुजुर्ग के बहने की सूचना है। अजबपुर में रेलवे ट्रैक पर पानी भर गया है। इससे ट्रेन रुक-रुककर चल रही है। सुभाषनगर में जलभराव हो गया है। कई घरों में पानी घुसा हुआ हैं। घंटाघर में बीएसएनएल ऑफिस के पास भी पानी भरने से मुसीबत खड़ी हो गई है। राजपुर रोड विधानसभा क्षेत्र में डांडीपुर नाला विकराल रूप में है।

बारिश से डीएवी रोड पर भी पानी भर गया है। शहर में कई घर जलमग्न हो गए हैं। बंजारावाला में बारिश का पानी बहने से लोग दहशत में हैं। लोग के घरों में भी बारिश का पानी भर गया है। बल्लुपुर फ्लाईओवर के पास हाईवे पर पेड़ गिर गया है। इससे ट्रैफिक जाम हो गया है। दून पांवटा साहिब हाईवे पर वाहनों की आवाजाही प्रभावित हो गई है। उधर, यमुना कालोनी में भी काफी पानी भर गया है। लोग दहशत में हैं।

हरिद्वार रोड पर से सारा ट्रैफिक रिंग रोड पर डायवर्ट करने से जाम लग गया है। नेहरू कालोनी से लेकर जोगीवाला तक वाहन फंसे हुए हैं। उधर, रिस्पना नदी उफान पर है। अधोईवाला में रोड कट गई है। सुबह से लगातार बारिश हो रही है। सड़क नदी में बदल गई है। बहाव काफी तेज है और सड़क बीच बीच मे कई जगह से उखड़ने लगी है। रायपुर टाइप थ्री में मुख्य सड़क पर पानी भर गया है।

टीएचडीसी और नेहरू कालोनी, सुमन नगर में भी जलभराव से हाल बुरे हैं। तेज बारिश से पानी घरों में घुस गया है। सेलाकुई इंडस्ट्रियल एरिया में कई फैक्ट्रियों में पानी घुस गया है। कर्मचारी फैक्ट्रियों में फंसे हुए हैं। एमडीडीए की चंद्रनगर कालोनी में भी कई लोग घरों में कैद हो गए हैं। घरों में पानी भरने से लोग परेशान हैं। इसके अलावा उत्तरांचल प्रेस क्लब में पानी भरा है।

श्री टपकेश्वर महादेव मंदिर में काफी श्रद्धालु फंस गए हैं। जान जोखिम में डालकर यह नदी पार कर रहे हैं। मंदिर के पास एक विशाल बड़ का पेड़ सत्संग भवन के हिस्से पर गिर गया है। इससे वैष्णो देवी गुफा मंदिर और अन्य मंदिरों के रास्ता बंद हो गया है। नदी भयंकर उफान पर है।

Loading...