शिक्षा के साथ हो रहा है खिलवाड़, पाठ्य पुस्तकों में हो रहा है बदलाव

0

विश्वगुरू होने और आगे भी बने रहने का दंभ पाले भारतीयों को यह सुनकर बुरा लग सकता है कि हमारे देश में शिक्षा के लिए किस कदर उपेक्षा का भाव घर कर चुका है और इसकी प्रमुख वजह है राजनीति, क्योंकि नेताओं के लिए यह जिम्मेदारी से अधिक राजनीतिक लाभ और हानि का मामला बन गया है। हाल ही में तीन घटनाएं ऐसी हुई हैं, जो इस बात के समर्थन में बतौर दलील पेश की जा सकती हैं। पहली खबर है कि एनसीईआरटी की किताबों से गालिब और टैगोर को हटाने का सुझाव दिया गया है। दूसरी खबर जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के कुलपति जगदीश कुमार द्वारा परिसर में टैंक लगाने की मांग पर है और तीसरी खबर कैग की रिपोर्ट से निकली है, जिसके मुताबिक सरकारी स्कूलों में नामांकन घट रहे हैं।

Loading...