प्रदेश में बरसात के चलते जनजीवन अभी तक पटरी पर नही आ पाया है ,

0

प्रदेश में बरसात के चलते जनजीवन अभी तक पटरी पर नही आ पाया है ,कई पैदल रास्ते और सड़के अभी तक टूटी हुई है ,जिसके चलते लोगो को जान जोखिम में डालकर सफ़र तय करना पड़ रहा है |

एक नजारा चमोली के सितेल इंटर कालेज में पढ़ने जा रहे छात्र –छात्राओं के बीच देखने को मिला है ,गुलाडी और वादुक गाँवों के क़रीब 100 बच्चे सितेल इंटर कालेज में शिक्षा ग्रहण करने आते है ,लेकिन सड़क पर लगातार भुश्ख्लंन होने से बच्चे जान की परवाह करे बगेर नाले को पार कर रहे है| जबकि नाले में लगातार भूस्खलन हो रहा है |

वादुक गाँव से ही सितेल इंटर कालेज में तैनात शिक्षक मंगलीराम भी बच्चो के साथ स्कूल के लिए आते है ,जो की बच्चो को नाला पार करवाने में मदद भी करते है ,शिक्षक मंगलीराम का कहना है की लगातार हो रही बारिश से नाला उफान पर भी आता है ,जिसके कारण स्कूल समय से पहुचने में बच्चो के साथ मुझे भी दिक्कत होती है,जबकि लोक निर्माण विभाग कर्णप्रयाग सड़क खोलने को लेकर गंभीर नहीं है,सुबह के समय बच्चो को स्कूल जाते वक्त नाला खतरा बना हुआ है, लेकिन विभाग समय से मार्ग खोलने के बजाय किसी बड़ी दुर्घटना का इंतजार कर रहा है |

 

Loading...