दोहरे हत्याकाण्ड का पुलिस ने किया कुछ ही घण्टो में खुलासा

0
  • दोहरे हत्याकाण्ड का पुलिस ने किया कुछ ही घण्टो में खुलासा

दिनांक 15.06.17 को चौकी श्यामुपर थाना ऋषिकेश पर राजपाल पुत्र मामचन्द नि0 लक्कड़घाट श्यामपुर व पदम सिंह पुत्र एस0एस0 रावत नि0 वीरभद्र ऋषिकेश ने सूचना अंकित करायी कि पंजाब एण्ड सिन्ध बैंक श्यामपुर के पीछे सीता नाम की महिला श्रमिक की दो पुत्री मनीषा उम्र 13 वर्ष व रिया उम्र 3 वर्ष की किसी अज्ञांत व्यक्ति द्वारा गला दबाकर हत्या कर दी गयी है। दिनांक 15.06.17 को चौकी श्यामुपर थाना ऋषिकेश पर राजपाल पुत्र मामचन्द नि0 लक्कड़घाट श्यामपुर व पदम सिंह पुत्र एस0एस0 रावत नि0 वीरभद्र ऋषिकेश ने सूचना अंकित करायी कि पंजाब एण्ड सिन्ध बैंक श्यामपुर के पीछे सीता नाम की महिला श्रमिक की दो पुत्री मनीषा उम्र 13 वर्ष व रिया उम्र 3 वर्ष की किसी अज्ञांत व्यक्ति द्वारा गला दबाकर हत्या कर दी गयी है। इस दोहरे हत्याकाण्ड की सूचना पर उ0नि0 मनोहर सिंह रावत मय पुलिस बल के मौके पर पंहुचे। चौकी प्रभारी श्यामपुर ने घटना के सम्बन्ध में सुश्री निहारिका भट्ट, प्रभारी कोतवाली/सहायक पुलिस अधीक्षक को अवगत कराया जो मय पुलिस बल के मौके पर पंहुची व उच्चाधिकारीगण को अवगत कराया गया। डॉग स्क्वाड/फौरेंसिक टीम को भी मौके पर पंहुचने के सम्बन्ध में निर्देशित किया गया। कमरे में घटनास्थल पर दो पलंग थे। दीवार की तरफ वाले पलंग पर मृतका मनीषा उम्र 13 वर्ष का शव पड़ा था, जिसकी गर्दन पर हाथ से गला दबाने का निशान था तथा नाक पर खून का झाग था। दूसरे पलंग पर छोटी बेटी रिया उम्र 03 वर्ष का शव पड़ा था, जिसके गले पर गला घोटने का निशान था तथा शव के पास ही स्कूल की नायलान की स्कूल बैल्ट पड़ी थी, जो मुड़ी थीं। बैल्ट को देखकर प्रतीत हो रहा था कि छोटी बच्ची रिया का गला बैल्ट से ही घोटा गया है।  फौरेंसिक टीम द्वारा घटनास्थल का बारीकी से निरीक्षण कर साक्ष्य संकलित किये गये। बड़ी बेटी मृतका मनीषा के शव के पास, हाथ पर व बालों पर लम्बे व सफेद बाल (जड़ सहित) मिले। घटनास्थल को देखकर ऐसा लग रहा था कि मृतका ने अपने बचाव के लिये मृत्यु से पूर्व काफी संघर्ष किया था। मौके पर मिले बालों से ऐसा प्रतीत होता था कि हत्या करने वाले व्यक्ति के सिर के बाल व दाड़ी मूछ के बाल सफेद रंग के है। फौरंसिक टीम द्वारा मौके पर मिले सफेद बालों और दीवार, गद्दे आदि पर लगे खून एवं खून लगे कपड़ों को परीक्षण हेतु कब्जे में लिया गया। घटनास्थल पर दीवार, गद्दे आदि से खून के धब्बे, सफेद बाल व अन्य साक्ष्य एकत्रित करने के पश्चात दोनो मृतका बालिकाओं का पंचायतनामा भरकर पोटस्टमार्टम हेतु भेजा गया। मौके पर मृतक बच्चियों की मां श्रीमती सीता देवी मौजूद हैं, जिनसे इस अप्रिय घटना की कोई रंजिश होने की बात पूछी गयी तो उन्होने बताया कि हमारा वैसे तो किसी से झगड़ा नही था परन्तु मेरी दोनो बेटी शौच व नहाने धोने के लिये गुरूद्वारे में जाती थी इस कारण गुरूद्वारे में काम करने वाला सेवक सरदार परवान सिंह पुत्र छोटे सिंह नि0 श्यामपुर मेरी बच्चियों को तंग व परेशान करता था। मैं गरीब व अकेली होने की वजह से अपनी बड़ी बेटी को मुह बंद रखने के लिये कहती थी लेकिन मुझे ऐसी उम्मीद नही थी कि मेरी बेटियों की हत्या हो जायेगी। मुझे सरदार परवान सिंह पर ही सन्देह है कि इसी ने ही मेरी दोनो बेटियों की हत्या की है। सन्देह के आधार पर सरदार परवान सिंह से पूछताछ की गयी तो सरदार परवान सिंह की हथेली पर दांत के कटे का निशान व मांस उखड़ा है तथा बांयी आंख के नीचे नाखुनो की खुरच का निशान है। सरदार परवान सिंह के सिर पर साफा बंधा है तथा दाड़ी व मूछ के सफेद व लम्बे बाल हैं। सरदार परवान सिंह की कपड़ों पर खून के धब्बे हैं। सरदार परवान सिंह से पूछताछ की गयी तो सरदार परवान सिंह उपरोक्त ने अपनी गलती स्वीकार करते हुये बताया कि मुझसे गलती हो गयी मैने ही दोनो बच्चियों को मारा है। आज सुबह मैने नहाते समय अपनी पगड़ी उतारकर किनारे रखी तो बड़ी लड़की मनीषा ने मेरी पगड़ी में लात मारी, जिससे मुझे गुस्सा आ गया। थोड़ी देर बाद मै बच्चो के घर गया। मेरे सिर पर गुस्सा सवार था और गुस्से में मैने बड़ी लड़की मनीषा का हाथ से गला दबाकर हत्या कर दी तथा छोटी बच्ची के शोर करने पर मैने उसे भी वहां पास में पड़ी बैल्ट से गला दबाकर मार दिया और मैं वहां से चला गया।  अभियुक्त सरदार परवान सिंह को गिरफ्तार किया गया, जिसे माननीय न्यायालय पेश किया जायेगा।  स्थानीय पुलिस द्वारा इतने कम समय में दोहरे हत्याकाण्ड के त्वरित अनावरण करने वाली पुलिस टीम की उच्चाधिकारीगण व स्थानीय जनता द्वारा मुक्तकंठ से प्रशन्सा की गयी। पुलिस उप महानिरीक्षक गढवाल परिक्षेत्र द्वारा पुलिस टीम को 5000/- रूपये व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदया देहरादून द्वारा 2,500/- रूपये ईनाम देने की घोषणा की गयी। पुलिस टीम -1- सुश्री निहारिका भटट्, प्रभारी कोतवाली/सहायक पुलिस अधीक्षक2- व0उ0नि0 हेमन्त खण्डूरी, कोतवाली ऋषिकेश3- उ0नि0 मनोहर रावत, चौकी प्रभारी श्यामपुर4- उ0नि0 धर्मेन्द्र रौतेला, थानाध्यक्ष रानीपोखरी5- उ0नि0 आशीष गुसांई, थानाध्यक्ष, रायवाला6- उ0नि0 राजेश सिंह, थाना ऋषिकेश7- का0 470 कमल जोशी, कोतवाली ऋषिकेश8- का0 1185 नवनीत सिंह, एसओजी/कोतवाली ऋषिकेश9- का0 78 सुबोध नेगी, चौकी श्यामपुर10- का0 686 सन्दीप छाबड़ी, चौकी श्यामपुर11- का0 1470 राकेश पंवार, चौकी श्यामपुर 12- का0 478 अनिरूद्ध, थाना रानीपोखरी         ऋषिकेश। जिस जगह पुलिस का ठिकाना था उससे 10 कदम की दूरी पर ही दो मासूम बच्चियों की बड़े ही निर्मम तरीके से हत्या कर दी गयी। हत्या की सूचना मिलते ही इलके में कोहराम मच गया। ऋषिकेश-श्यामपुर पुलिस चौकी के समीप रहने वाली एक महिला सुबह आठ बजे काम पर गई थी, घर वापस आकर देखा तो कमरे में दोनों बच्चियां मृत मिलीं।दोनों मासूमों में से एक 4 साल की तो दूसरी 13 साल की लड़की थी। दोनों की गला घोंट कर हत्या की गई थी। सूचना पाकर एसपी देहात सरिता डोभाल व कोतवाली प्रभारी एसपी निहारिका भट्ट घटनास्थल पर पहुंचीं। दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है जबकि देहरादून से फोरेंसिक टीम को बुलाया गया है जो मौके पर जाकर जांच कर रही है।पढ़ें- रुड़की के बाद देहरादून में सेक्स रैकेट का खुलासा, डायरी से पुलिस को मिले कई सफेदपोशों के नामकोतवाली प्रभारी निहारिका भट्ट ने बताया कि महिला का पति सूरज किसी मामले में वर्तमान में सुद्धोवाला जेल में है। पुलिस इस घटना को अलग अलग बिंदुओं से जांच कर रही है।घटना श्यामपुर इलाके से महज 10 कदम की दूरी पर हुई है। घटना के बाद पुलिस की गश्त और मुस्तैदी पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं। पुलिस इस लाइन पर भी जांच कर रही है कहीं इस घटना में लड़कियों के साथ दुष्कर्म तो नहीं हुआ।

Loading...