नौ घंटे बंद रहा दिल्ली यमुनोत्री हाईवे, मलबे में दबने से किशोरी की मौत

0

उत्तराखंड में मानसून अभी पहुंचा भी नहीं और बारिश ने पहले ही कहर बरपाना शुरू कर दिया है। पहाड़ों में लगातार बारिश आफत बनती जा रही है। मसूरी से आगे दिल्ली- यमुनोत्री हाइवे पर मलबा आने से सड़क बंद हो गई। करीब नौ घंटे बाद इस सड़क पर यातायात सुचारू हुआ। वहीं मसूरी-टिहरी मार्ग पर बाटाघाट के निकट भूस्खलन के मलबे में दबने से एक किशोरी की मौत हो गई।

गत रात सुमनक्यारी व खरसौन क्यारी के बीच दिल्ली यमुनोत्री मार्ग भूस्खलन से बंद हो गया। करीब नौ घंटे बाद इस मार्ग से सुबह के समय मलबा हटाया गया। इससे यमुनोत्री जाने वाले यात्री भी रास्ते में ही रुके रहे। रातभर परेशानी झेलने के बाद यात्रियों ने राहत की सांस ली।

वहीं मसूरी-टिहरी मार्ग पर बाटाघाट के निकट पुश्ते का मलबा मकान पर गिर गया। इससे 16 साल की लड़की की दबने से मौत गई। घटना आधी रात के बाद करीब ढाई बजे की है। इस दौरान परिवार के अन्य तीन सदस्यों ने भागकर जान बचाई। सूचना पर एसडीआरएफ की टीम घटनास्थल पर पहुंची। एसडीआरएफ की टीम को मलवे से शव निकालने में करीब चार घंटे लगे।
चारधाम यात्रा के बीच बारिश ने यात्रियों के कदम थाम दिए हैं। हालांकि गत वर्ष की अपेक्षा इस साल अभी तक लगभग दोगुने यात्री चारधाम के दर्शन करने पहुंच चुके हैं।

यह भी पढ़े -उत्तराखंड में सरकार की होम डिलीवरी शराब सेवा शुरु…..

Loading...