Covid-19:कोरोना की रफ्तार पर लगा ब्रेक,304 नए मरीज

0

राज्य में गुरुवार को कोरोना के 304 नए मरीज मिले और पांच संक्रमितों की मौत हो गई। इसके साथ ही राज्य में कुल कोरोना मरीजों की संख्या 90920 हो गई है। जबकि अभी तक 1509 लोगों की मौत भी हो चुकी है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार गुरुवार को अल्मोड़ा में 12, बागेश्वर में छह, चमोली में तीन, चम्पावत में छह, देहरादून में 99, हरिद्वार में 18, नैनीताल में 108, पौड़ी में सात, पिथौरागढ़ में नौ, रुद्रप्रयाग और टिहरी में एक एक, यूएस नगर में 25 जबकि उत्तरकाशी जिले में नौ मरीजों में वायरस की पहचान हुई है।

गुरुवार को हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज में तीन, दून मेडिकल कॉलेज में एक जबकि महंत इंद्रेश अस्पताल में भी एक संक्रमित की मौत हो गई। राज्य के विभिन्न अस्पतालों से गुरुवार को 539 मरीजों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज किया गया। जिससे अभी तक ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 83506 हो गई है। राज्य भर से 13 हजार से अधिक सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। 12 हजार से अधिक सैंपल की रिपोर्ट नेगेटिव आई और 14 हजार से अधिक सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। राज्य में मरीजों के ठीक होने की दर 91.85 प्रतिशत जबकि संक्रमण की दर 5.12 प्रतिशत चल रही है।

कोरोना के 69 प्रतिशत मरीज मैदानी जिलों में 
मार्च से दिसम्बर 2020 के बीच राज्य में मिले कुल कोरोना मरीजों में से 69 प्रतिशत चार मैदानी जिलों के हैं। जबकि शेष 31 प्रतिशत मरीज राज्य के अन्य पर्वतीय जिलों में मिले हैं। सोशियल डेवलपमेंट फॉर कम्युनिटीज फाउंडेशन की ओर से जारी रिपोर्ट के अनुसार कोविड काल के दौरान अकेले देहरादून जिले में 30 प्रतिशत मरीज मिले हैं।

कोरोना मरीजों की मौत का आंकड़ा देखें तो अकेले दून जिले में 56 प्रतिशत मरीजों की मौत हुई है। जबकि चार मैदानी जिलों की स्थिति का आंकलन किया जाए तो इन चार जिलों में कुल मौतों का 87 प्रतिशत रही है। राज्य के मैदानी जिलों में संक्रमण की दर भी अधिक रही है। राज्य में हुई कुल कोरोना जांच में से 59 प्रतिशत जांचें चार मैदानी जिलों में हुई है।

Loading...