CM ने थमाया उपनल कर्मियों को आश्वासनों का लॉलीपॉप, उपनल कर्मी कर सकते हैं 2017 के चुनाव का बहिष्कार

0

images

बीते दिनों सचिवालय में हुई कैबिनेट मीटिंग में उपनल कर्मियों की मांग पर कोई निर्णय न होने से उपनल कर्मियों में काफी नाराज़गी है। आज सैकड़ों उपनलकर्मियों ने एक बार पुनः सचिवालय कूच किया लेकिन पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को सचिवालय के समीप बेराकेटिंग लगाकर रोक दिया।पुलिस द्वारा रोके जाने पर प्रदर्शनकारियों ने जोरदार नारेबाजी के बीच प्रदर्शन करते हुए धरना दिया। आप को बता दे की अपनी मांगों को लेकर उपनल कर्मचारी पिछले काफी दिनों परेड ग्राउंड में धरने पर हैं। विभागीय संविदा में नियुक्ति की मांग ये लोग कर रहे हैं। कर्मचारियों का कहना है कि इस बार उनकी मांग माने जाने के बाद ही आंदोलन समापत किया जायेगा। आंदोलित कर्मचारियों की माने तो बीती 14 जुलाई को मुख्यमंत्री के आश्वासन के बाद ही उन्होंने आंदोलन समाप्त किया था और अभी तक कर्मचारियों को संविदा पर नियुक्त हो जाना चाहिए था लेकिन ऐसा नही हुआ उसके बाद 15 अगस्त को मुख्यमंत्री ने खुद घोषणा की थी कि उपनल कर्मियों को संविदा पर रखा जायेगा लेकिन उन्हें महज़ आश्वासनों का लॉलीपॉप थमाया जा रहा है। इसी वादा खिलाफ़ी से नाराज़ होकर अब उपनल कर्मियों ने आर पार की लड़ाई का एलान कर दिया है।साथ ही चेतावनी दी है कि उपनल कर्मी 2017 के चुनाव का बहिष्कार करेंगे

Loading...