बांग्लादेशी डकैतों का आतंक अब देहरादून में , पुलिस ने बंगलादेशी गैंग के 7 डकैतों को किया गिरफ्तार

0
  • बांग्लादेशी डकैतों का आतंक अब देहरादून में , पुलिस ने बंगलादेशी गैंग के 7 डकैतों को किया गिरफ्तार

देहरादून। उत्तराखंड पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। पुलिस ने शन‌िवार देर रात बांगादेशी गैंग के सात डकैतों को दून के डोईवाला के जंगलों से ग‌िरफ्तार क‌िया। पुलिस को मौके पर देख एक आरोपी भागने में कामयाब रहा। बताया जा रहा है कि हर्रावाला में सीआईएसएफ सहायक कमांडेट और डालनवाला में कपड़ा कारोबारी के यहां डकैती बांग्लादेशी गैंग ने डाली थी। पुलिस पकड़े गए आरोपियों के पास से माल बरामदी की बात कर रही है। वहीं पुलिस फरार आरोपी की तलाश में जुट गई है।

पुलिस के हाथ लगी पड़ी सफलता, डकैत गिरफ्तार

उल्लेखनीय है कि पुलिस ने शनिवार रात डोईवाला के जंगल से मुखबिर की सूचना के आधार पर सात बदमाशों मोनू उर्फ घोलू निवासी बोराई खली बांग्लादेश (हाल पता प्रेमनगर लोनी, व्यवसाय कबाड़ी) आलमगीर निवासी बोराई खली बागर हट, नजरूम निवासी दईबकटी, दुलाल निवासी बनैअली, दुलाल निवासी मोरलगंज बांग्लादेश, बादल कबीर निवासी मोरलगंज बागर हट, चांद कुरैशी निवासी नगीना बिजनौर को गिरफ्तार किया।ये लोग दिल्ली और गाजियाबाद में अपनी पहचान छिपाकर कबाड़ी, मछली, सब्जी बेचने का काम करते हैं। तलाशी में इनके पास से 15 मोबाइलों के साथ सात हथियार बरामद हुए और जिनमें तमंचे, चाकू आदि शामिल हैं। कई तरह के पेंचकस, आरी, लोहे की छड़ बरादमद हुए, जिसका उपयोग वे ताले तोड़ने अथवा ग्रिल निकालने में करते हैं। एसएसपी ने बताया कि पकड़े गए बदमाशों ने हर्रावाला और डालनवाला में डकैती डालना स्वीकार किया है। हर्रावाला डकैती में लूटे सोने के जेवरात, लैपटॉप आदि सामान बरामद हो गया है। उनका एक साथी सागर अभी फरार है। डकैती के कुछ जेवरात उसके पास हैं। बता दें कि सुमित टंडन के यहां से लूटे गए दो मोबाइल बरामद हो गए हैं। जेवर बेचे जा चुके हैं। पुलिस पकड़े गए लोगों को रिमांड पर लेकर डकैती का माल बरामद करने का प्रयास करेगी। एसएसपी कुकरेती, डीआईजी पुष्पक ज्योति, एडीजी राम सिंह मीणा ने पुलिस टीम की सराहना की है। डीजीपी ने पुलिस टीम को बीस हजार रुपये का पुरस्कार देने की घोषणा की।

Loading...