आन्दोलित ग्रामीण और तहसील प्रशासन के बीच, जोशीमठ की बैठक रही बेनतीजा

0

चमोली: 23 दिनों से जोशीमठ में पालिका परिसीमन, शिक्षकों की नियुक्ति, लंबित सड़कों को शुरू करने, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जोशीमठ में विशेषज्ञ डॉक्टरों की नियुक्ति के सन्दर्भ में अनशन और प्रदर्शन चल रहा है। 29 सितंबर को ग्रामीणों की लंबित मांग को लेकर अपर जिलाधिकारी चमोली द्वारा सम्बंधित विभागों के अधिकारियों की उपस्थिति में आज 3 अक्टूबर को ग्रामीणों की बैठक तहसील में बुलाई थी! आज तय समय पर सभी ग्राम प्रतिनिधि तहसील में बैठक में हेतु उपस्थित हुए। बैठक में अपर जिलाधिकारी समेत सभी सम्बंधित अधिकारी नदारद रहे और उपजिलाधिकारी सदर चमोली बैठक में उपस्थित थे जिन्होंने मामले से सम्बंधित जानकारी होने से हाथ खड़े कर दिए ऐसे में बैठक में सम्मिलित संघर्ष समिति के पदाधिकारियों समेत ग्राम प्रतिनिधि प्रशासन के ऐसे रवैये पर विफर पड़े! उपजिलाधिकारी से तीखी नोकझोंक हुयी और उपजिलाधकारी मुर्दाबाद, शासन-प्रशासन मुर्दाबाद के नारे आन्दोलित ग्रामीणों ने लगाए! ज्ञान्तब्य हो कि 30 अक्टूबर को आन्दोलित ग्रामीणों द्वारा जोशीमठ में पहुंचे केंद्रीय गृहमंत्री को काले झंडे दिखाए जाने बाबत प्रशासन ने 3 अक्टूबर को आन्दोलित ग्रामीणों की मांगों पर हर संभव समाधान का भरोसा दिया गया था लेकिन आज प्रशासन की ग्रामीणों के प्रति उदासीनता के चलते लोगों मर प्रशासन के प्रति भारी रोष उत्पन्न हो गया है और ग्रामीण आगामी उपराष्ट्रपति के बद्रीनाथ दौरे पर काले झंडे से उनका विरोध करने का मन बना चुके है.

Loading...