8 साल के मासूम की स्कूल में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

0

गाज़ियाबाद : गाजियाबाद के लोनी इलाके में स्थित जेडी शास्त्री स्कूल में LKG में पढ़ने वाले एक मासूम स्टूडेंट की स्कूल में ही संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई. एक तरफ जहां स्कूल बच्चे की मौत के पीछे ठंड को वजह बता रहा है, वहीं परिजनों का आरोप है कि अत्यधिक पिटाई के चलते उनके बच्चे की मौत हुई है.

आरोप है कि स्कूल में एक टीचर ने बच्चे की पिटाई की, जिससे उसकी स्थिति खराब हो गई. तबीयत बिगड़ने पर बच्चे को अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई. दिल्ली एनसीआर एक अधिकांश स्कूलों में तेज सर्दी के चलते छुट्टियां घोषित हैं.लेकिन प्राइवेट स्कूल DM के आदेश की परवाह किए बगैर स्कूल चला रहे हैं. जेडी शास्त्री स्कूल भी तेज ठंड के बावजूद खोल दिया गया था और छोटे-छोटे बच्चों को इतनी सर्दी में स्कूल आने के लिए मजबूर किया जा रहा था.पुलिस ने सूचना मिलते ही बच्चे के शव का पोस्टमार्टम करवाया और आगे की जांच में लग गई है. इसके बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया और परिजनों ने अंतिम संस्कार करते हुए शव को दफना दिया है. हालांकि कब्र से निकालकर शव का दोबारा पोस्टमार्टम करवाए जाने की मांग भी हो रही है.

 परिवार का कहना है उन्हें स्कूल ने घटना की सूचना देरी से दी. धर्मपाल अस्पताल से स्कूल वाले बच्चे को एम्बुलेंस से न ले जाकर बाइक से जीटीबी अस्पताल ले गए. स्कूल की दूसरी बड़ी लापरवाही भी सामने आई है. गाजियाबाद डीएम ने आदेश जारी किया है कि 14 जनवरी तक ठंड की वजह से स्कूल बंद रखे जाएं. उसके बावजूद स्कूल खुला हुआ था.

वहीं स्कूल इन आरोपों से इनकार करते हुए कह रहा है कि स्कूल सिर्फ स्टाफ के लिए खुला हुआ था. लोनी थाने के CO दुर्गेश कुमार का कहना है कि बच्चे का पोस्टमार्टम हो चुका है और जांच चल रही है. वहीं लोनी के SDM ने मृतक बच्चे के परिवार से मुलाकात करने के बाद कहा कि प्रथम दृष्टया स्कूल की गलती सामने आ रही है.उन्होंने कहा कि जांच के बाद दोषी पाए जाने पर स्कूल के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. इस बीच कब्र से निकालकर शव का दोबारा पोस्टमार्टम करवाए जाने की मांग भी उठ रही है. हालांकि इसके लिए प्रशासन की सहमती चाहिए होगी.

Loading...