12 साल की बच्ची ने अपनी मां को रेप से बचाया, चार हमलावरों से अकेले ही भिड़ गई

0

12 साल की एक बहादुर बच्ची ने अपनी मां को गैंगरेप का शिकार होने से बचा लिया। घटना रविवार रात की है जब बच्ची अपनी मां के साथ रेप करने की कोशिश कर रहे चार हमलावरों से अकेले ही भिड़ गई। बाद में कुछ गांववालों के आने पर हमलावर भाग गए। इस घटना में बच्ची की मां को चाकू से चोटें भी आई हैं।

महिला अपने दो बच्चों के साथ खेत में थी जब चार लोगों ने उस पर हमला किया। पीड़िता ने बताया,’वे हमें जबरदस्ती पास की एक झोपड़ी में ले गए और वहां मेरे साथ रेप करने की कोशिश की लेकिन मेरी बच्ची उनसे भिड़ गई। उन्होंने इसे धमकाया और मारा फिर भी वह उनसे जूझती रही। कुछ देर में हमारी चीखें सुनकर गांववाले हमारी मदद के लिए आ गए लेकिन तब तक हमलावर वहां से भाग चुके थे।’

चारों आरोपी एक ही गांव के रहने वाले हैं। उनकी पहचान सत्यपाल गंगवार, दिजेंद्र गंगवार, सुभाष गंगवार और जयंत गिरी के तौर पर हुई है। फिलहाल चारों में से किसी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। महिला के रिश्तेदार ने सोमवार को इस बारे में शिकायत दर्ज कराई थी जिसके बाद पुलिस ने एफआईआर किया। हालांकि पुलिस ने जांच शुरू होने से पहले ही महिला के दावे को खारिज कर दिया है। पुलिस का कहना है कि यह घटना जमीन-जायदाद के एक झगड़े से सम्बन्धित है। सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस (रुरल) युमना प्रसाद ने कहा,’पहली नजर में यह जमीन-जायदाद से जुड़े झगड़े का मामला लगता है। आरोपियों का महिला के साथ पहले से ही झगड़ा था। बाद में मामले को सनसनीखेज बनाने के लिए रेप का आरोप लगाने की कोशिश की गई। ‘गांव के एक शख्स ने नाम जाहिर न होने की शर्त पर बताया कि यह घटना राजनीतिक रंजिश की वजह से हुई। उसने बताया,’पीड़िता के परिवार ने दिसंबर 2015 के पंचायत चुनाव में उस उम्मीदवार को वोट दिया था जो एक आरोपी का प्रतिद्वंद्वी था। यही वजह है कि आरोपी पीड़िता से बदला लेना चाहता था।’ आरोपियों के साथ झगड़े में महिला को चाकू से चोटें आई है। उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया हैं जहां वह डॉक्टरों की देख-रेख में है।

Loading...