01 अप्रैल से आई0एफ0एम0एस (इन्टीग्रेटेड फाईनेन्सियल मेनेजमेन्ट सिस्टम) को लागू

0

प्रधानमंत्री के डिजीटल इण्डिया कार्यक्रम में अन्तर्गत प्रदेश सरकार ने सभी सरकारी कार्यालयों में लेन-देन को पारदर्शी व पेपर लेस बनाने के लिए आगामी 01 अप्रैल से आई0एफ0एम0एस (इन्टीग्रेटेड फाईनेन्सियल मेनेजमेन्ट सिस्टम) को लागू करने जा रही है, इसी के तहत जिला कार्यालय सभागार में सभी विभागों के आहरण वितरण अधिकारियों की कार्यशाला के दौरान कोषाधिकारी बालक राम ने बताया कि नये वित्तीय वर्ष 2018-19 में सभी आहरण वितरण कार्य, देयक, सेवा अभिलेखों को ऑनलाईन किया जायेगा, जिसके लिए आगामी मंगलवार को छूटे हुए अधिकारियों के लिए पृथक से कार्यशाला का आयोजन किया जायेगा। उन्होने बताया कि आगामी 31 मार्च तक सभी आहरण वितरण अधिकारी आईएफएमएस पोर्टल पर अपना पंजीयन अनिवार्य रुप से कर ले ताकि 01 अप्रैल से शुरु होने वाले नये पोर्टल पर कार्य करने में सुविधा हो सके।
शनिवार को जिला कार्यालय सभागार शासन के निर्देशों के तहत आहरण वितरण अधिकारियों तथा लेखा कार्य से जुडे सहायकों को पावर प्वांण्ट प्रजेंटेशन के माध्यम से आईएफएमएस की आधरभूत जानकारियॉ दी गई ताकि आहरण वितरण के अलावा कर्मचारियों के सेवा अभिलेख तथा अवकाश का रखरखाव ऑनलाईन करने में किसी भी प्रकार की असुविधा न हो। सरकार हर कार्य को पारदर्शी एवं पेपर लेस बनाने के लिए डिजीटल कार्यक्रम को प्रोत्साहन दे रही है। उन्होने कहा कि यह नया पोर्टन यूजर फ्रेन्डली है जिसमें किसी भी प्रकार के परिर्वतन हेतु डीडीओ आईडी के माध्यम से किया जा सकता है वहीं नई नियुक्ति पाने वाले कर्मचारियों एवं अधिकारियों को प्रथम नियुक्ति से ही सभी अभिलेखों को पोर्टल पर ऑनलाईन करना अनिवार्य होगा ताकि कर्मचरियों के अभिलेखों के रखरखाव व जॉच में सुविधा हो सके। इस अवसर पर उपकोषाधिकारी थत्यूड भगत सिंह पुण्डिर, एडीआई एसएम बिजल्वांण, अधिशासी अभियन्ता पीएमजीएसवाई, सहायक निदेशक मत्स्य अल्पना हल्दिया के अलावा अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

Loading...