टीचर को बाथरुम में बंद कर, छात्र ने रखी ये डिमांड

0

नई दिल्ली: शाहदरा के विवेक विहार में स्थित एक सरकारी स्कूल में एक शिक्षिका के साथ ऐसी घटना घटित हुई जिसे सुनकर कोई भी हैरान रह जाएगा। 44 वर्षीय शिक्षिका को कथित तौर पर उसके ही विद्यार्थी ने बाथरुम में बंद कर दिया। और तो और बाहर निकलने के एवज में ‘सेक्सुअल फेवर’ की डिमांड की गई। हालांकि इस स्टूडेंट की पहचान अभी भी नहीं हो पाई है।

दिल्ली पुलिस ने इस मामले को आईपीसी की धारा 354-ए और 509 के अंतर्गत दर्ज कर लिया गया है। विवेक विहार पुलिस स्टेशन के अधिकारी इस मामले में आरोपी की पहचान करने में जुटे हैं। बुधवार को इस मामले पर चर्चा करने के लिए सुबह और शाम की शिफ्ट को स्कूल मैनेजमेंट की ओर से बुलाया गया है।

एडवाइजर ने शिक्षा मंत्री आतिशी मार्लेना को बताया, ‘स्टूडेंट की पहचान अभी तक नहीं हो पाई है। हम युवाओं के लिए स्कूल में एक ट्रेनिंग आयोजित करने की कोशिश कर रहे हैं।’

शाहदरा जिले के डीसीपी नुपूर प्रसाद ने कहा, ‘जांच जारी है।’ खबरी ने बताया है कि घटना मंगलवार को लड़कियों की पहली शिफ्ट के खत्म होने के बाद की है। यह 12.30 बजे पूरी होती है। इसके बाद शिक्षिका 12.50 पर वाशरुम गई थीं।

सूत्र ने कहा, ‘शिक्षिका बाथरुम में थीं। तभी उन्होंने कुछ आवाजें सुनी। उन्हें यह महसूस हुआ कि बाहर से दरवाजा बंद कर दिया गया है। शुरूआत में टीचर ने स्टूडेंट से विनती की कि उन्हें बाहर आने दें। मगर इसके बाद स्टूडेंट ने उन्हें गालियां देना शुरू कर दिया। फिर स्टूडेंट ने टीचर से ‘सेक्सुअल फेवर’ की डिमांड की। इसके एवज में दरवाजा खोलने की बात की। टीचर ने जब चिल्लाकर मदद मांगी तो स्टूडेंट वहां से भाग निकले।’

कुछ देर बाद स्टाफ के सदस्यों ने टीचर को वहां से निकाला। शिक्षिका ने तुरंत स्कूल के प्राचार्य को इस बारे में सूचना दी। उन्होंने शिक्षिका से कहा कि वो प्रार्थना के समय उस स्टूडेंट की पहचान करें। पुलिस ने बताया कि टीचर ने 300 से ज्यादा लड़कों को देखा। मगर वो किसी भी एक की पहचान नहीं कर सकीं। इसके बाद पुलिस को बुलवाया गया।

Loading...