एक ही स्कूल की 6 लड़कियों ने महज 3 हफ्तों के अंदर की आत्महत्या

0

भोपाल : मध्य प्रदेश के सिधी जिले में एक सरकारी स्कूल की 6 लड़कियों ने आत्महत्या कर ली है। चौंकाने वाली बात यह है कि यह सारी आत्महत्याएं महज तीन हफ्ते के अंदर हुई हैं। जहां एक ओर इसने स्कूल में पढ़ने वाली लड़कियों के माता-पिता के दिल में खौफ का माहौल पैदा कर दिया है, वहीं पुलिस को यह समझ नहीं आ रहा है कि आखिर सिर्फ तीन हफ्तों की अंदर 6 लड़कियों द्वारा आत्महत्या किए जाने के पीछे क्या कारण है। इस स्कूल का नाम है साफी हायर सेकेंडरी स्कूल। इन सभी लड़कियों ने अपने घर में ही खुद को फांसी लगातर आत्महत्या कर ली है। किसी भी आत्महत्या के से कोई सुराग न मिलने के एक बड़ा कारण यह भी है कि इन लड़कियों ने अपने पीछे कोई सुसाइड नोट नहीं छोड़ा है, जिसके चलते पुलिस को भी मामले की छानबीन करने में खासी मशक्कत करनी पड़ी रही है, लेकिन कुछ भी हाथ नहीं लग रहा है

यह स्कूल सिधी जिला मुख्यालय से 25 किलोमीटर दूर है और मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से 750 किलोमीटर दूर है। यह सभी लड़कियां अलग-अलग कक्षाओं में पढ़ती हैं और इनकी उम्र भी अलग-अलग है। साथ ही, यह सभी लड़कियां अलग-अलग गांव की रहने वाली हैं। अभी तक की जांच से यह पता चला है कि उन्हें देखकर ऐसा कुछ नहीं लग रहा था जिससे कहा जा सके कि वह किसी तरह से परेशान या डिप्रेशन की शिकार थीं। पुलिस का कहना है कि कि लगातार हो रही इन आत्म हत्याओं से अब अन्य लड़कियों के माता-पिता भी परेशान हैं।

यह लड़कियां 9वीं और 11वीं में पढ़ती थीं। आखिरी आत्महत्या 9 मार्च को हुई थी, जब 14 साल की रानी यादव ने गजराही गांव में अपने घर में आत्महत्या कर ली थी। 5 मार्च को 17 साल की अकांक्षा शुक्ला ने कोठार गांव स्थित अपने घर में खुद को कुछ इसी तरह से फांसी लगाई थी। वहीं तीन दिन पहले 18 साल की अमृता गुप्ता भी इसी तरह से कुबरी गांव के अपने घर में मृत पाई गई थी। वहीं 27 फरवरी को कारोडी गांव में 11वीं की 16 वर्षीय छात्रा अनिता साहू ने खुद को अपने ही घर में फांसी लगाई थी। इनके अलावा अन्य दो लड़कियां दौरागांव की हैं।

Loading...