बैंक ग्राहकों को फिर मिल सकती है मोरेटोरियम की सुविधा, बैंकों ने इस दिशा में बढ़ाए कदम

कोरोना वायरस की देश में दूसरी लहर के नरम पड़ने के संकेत के साथ ही बैंकों ने व्यक्तिगत और कारोबारी उद्देश्यों से लोन लेने वाले ग्राहकों को राहत देने की स्कीम पर काम शुरू कर दिया है। इसके तहत इस महीने की शुरुआत में आरबीआइ की तरफ से घोषित स्कीम के आधार पर 25 करोड़ रुपये तक के लोन लेने वाले ग्राहकों को आसानी से कर्ज चुकाने के लिए ज्यादा समय दिया जा रहा है। साथ ही बैंक ग्राहकों की समस्या और जरूरत को देखते हुए मोरेटोरियम की सुविधा भी दे सकते हैं।

हां, यह पिछले साल सभी को एक साथ मिली मोरेटोरियम जैसी सुविधा नहीं होगी। इस स्कीम के तहत 10 लाख रुपये तक का लोन लेने वाले सभी कर्जदारों के लिए सभी बैंकों की तरफ से एक समान राहत स्कीम लागू की जा रही है। कई बैंकों के बोर्ड ने पिछले कुछ दिनों में इस संबंध में प्रस्ताव पारित कर दिया है और ग्राहकों को स्कीम के बारे में धीरे-धीरे सूचना भेजने का काम शुरू हो गया है

कर्ज की तीन कटेगरी बनाई

भारतीय बैंक संघ (आइबीए) के अध्यक्ष राजकिरण राय ने बताया कि कर्ज अदायगी में राहत देने के लिए बैंकिंग लोन को तीन वर्गों में चिह्नित किया गया है। 10 लाख रुपये तक के लोन, 10 लाख से 10 करोड़ रुपये तक के लोन और 10 करोड़ से 25 करोड़ रुपये तक के लोन। बैंकों की तरफ से 10 लाख रुपये तक के लोन अकाउंट के लिए समान मानक अपनाया जाएगा। बैंकों ने इस श्रेणी के ग्राहकों की लिस्ट तैयार कर ली है और अब उन्हें सूचना भेजकर पूछा जा रहा है कि वे राहत स्कीम का फायदा उठाने को तैयार हैं या नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *