प्रकाश पांडे की मौत बीजेपी के लिए परेशानी भरी, कारोबारियों ने बीजेपी से बना ली दूरी

0

देहरादून। ट्रांसपोर्ट कारोबारी प्रकाश पांडे की मौत बीजेपी के लिए कई माएने में परेशानी भरी साबित हो रही है। 25 करोड़ रुपए की आजीवन सहयोग निधि जुटाने की तैयारी में लगी बीजेपी को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। ट्रांसपोर्ट कारोबारियों ने बीजेपी से दूरी बना ली है। बीजेपी के अंदरूनी सूत्रों की मानें तो कारोबारियों में नाराजगी है। इसका असर व्यापार जगत के अन्य क्षेत्रों पर भी तय माना जा रहा है। यही वजह है कि लक्ष्य का आधा ही प्राप्त हो पाया है।

बीजेपी ने उत्तराखंड में आजीवन सहयोग निधि के तहत 25 करोड़ का रुपए का फंड जमा करने का लक्ष्य रखा है। पिछले दिनों मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने खुद एक लाख रुपए का चेक आजीवन सहयोग निधि के तौर पर पार्टी को सौंपा था। पार्टी अध्यक्ष अजय भट्ट ने भी अपना चेक पार्टी को सौंपा था। इसके साथ ही पार्टी के कई बड़े नेता अपना योगदान दे चुके हैं। इसके बावजूद पार्टी 25 करोड़ के लक्ष्य से दूर है।

दरअसल पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी के जन्मदिन 25 दिसंबर को पार्टी ने अपना अभियान शुरु किया था। तय किया गया कि 25 जनवरी तक एक माह के समय में 25 करोड़ रुपए का बंदोबस्त कर लिया जाएगा। लेकिन अभी तक 13 करोड़ रुपए का कलेक्शन ही हो पाया है। पिछले कुछ दिनों में फंड कलेक्शन में जबरदस्त कमी आई है। हालांकि पार्टी के नेताओं को उम्मीद है कि वो लक्ष्य पूरा कर लेंगे।

Loading...