पहाड़ों पर बर्फबारी से मैदानों में उतरी शीतलहर, हरियाणा में ठिठुरन बढ़ी

0
पहाड़ों की बर्फबारी का रविवार को मैदानों में खासा असर दिखा है। पिछले एक हफ्ते से अच्छी धूप वाला मौसम अचानक शीतलहर जैसा हो गया। दिन में दृश्यता बमुश्किल 25-30 मीटर रही। दिन का तापमान अचानक 6 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया। 22 से 24 डिग्री सेल्सियस तक रहने वाला अधिकतम तापमान 15 से 16 डिग्री पर पहुंच गया।
अम्बाला, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र और करनाल के कुछ हिस्सों में बारिश हुई। यमुनानगर में तो ओले भी गिरे हैं। लगभग 25 किलोमीटर की गति से बर्फीली हवा चली। हालांकि रात का पारा 5 डिग्री चढ़कर 12 तक पहुंच गया है लेकिन दिन में जबर्दस्त ठिठुरन रही। सूरज तो महज ढाई घंटे ही चमका। प्रदेश में नारनौल सबसे ठंडा रहा। यहां न्यूनतम तापमान 6.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम में अचानक यह बदलाव पश्चिमी विक्षोभ के कारण आया है। पुरवाई चलने से शनिवार आधी रात को ही बादल छा गए थे। रविवार को भी पूरे दिन बादल छाए रहे।
3 दिनों तक रह सकती है धुंध, 28-31 दिसंबर तक मैदानों में बारिश, पहाड़ों पर बर्फबारी के आसार: मौसम विभाग (आईएमडी) के अनुसार अगले तीन दिनों तक प्रदेश में कहीं-कहीं गहरी धुंध पड़ सकती है। 28 दिसंबर को पश्चिम विक्षोभ से एक बार फिर मौसम बदल सकता है। 30 व 31 दिसंबर को पहाड़ों में बर्फबारी व बरसात हो सकती है। इसका असर मैदानी इलाकों में पड़ेगा।
उधर, शिमला में 25 साल बाद क्रिसमस पर बर्फबारी, 4 दिन पहले गर्मी ने तोड़ा था 8 साल का रिकॉर्ड: शिमला में 25 साल बाद क्रिसमस के दिन सीजन की पहली बर्फबारी हुई। 1991 में 25 दिसंबर को शिमला में बर्फ गिरी थी। 21 दिसंबर को ही यहां सर्दियों में गर्मी का रिकार्ड भी टूटा था।
Loading...