निशुल्क प्राथमिक शिक्षा देने का राज्य सरकार का एजेंडा जनपद भर मे पूरी तरह खा रहा है जंग

0

received_1098414663591159

प्रदेश का सबसे बड़ा विभाग आज अपने मूल उद्देश्य से पूरी तरह भटका नजर आ रहा है जो प्राथमिक विधालयो मे पढने वाले बच्चो के भविष्य के लिए खतरे की घंटी है जनपद के राजकीय प्राथमिक विधालयो मे शिक्षा का स्तर इस हद तक नीचे गिर गया है कि यहॉ पढने वाले बच्चो और अनपढ बच्चों मे कुछ ज्यादा फर्क नहीं दिखाई पडता समाज के हर बच्चे को निशुल्क प्राथमिक शिक्षा देने का राज्य सरकार का एजेंडा जनपद भर मे पूरी तरह जंग खा गया है हर गॉव मे प्राथमिक विधालय स्थापित कर सरकार ने ऊपरी तौर पर तो अपनी जिम्मेदारी निभा दी है पर इन विधालयो मे शिक्षा की कोई और ही तस्वीर नजर आती है जो सरकारी वादो और शिक्षा विभाग के दावो के मुह पर किसी तमाचे से कम नही है शिक्षको की प्राथमिक विधालयो मे तैनाती को लेकर विभाग जिस प्रकार दुर्गम और सुगम स्थानो पर तैनाती को लेकर अपना कडा रूख इख्तियार किये हुऐ है उसके इतनी बडे स्तर पर दुष्परिणाम देखने को मिल रहे हैं कि यहॉ पढने वाले छात्र पढे लिखे अनपढ बनकर रह गये हैं

Loading...